Sakshatkar.com - Filmidata.com - Sakshatkar.org

कृष्णा अभिषेक और मुग्धा गोडसे की फिल्म शर्माजी की लग गई १५ मार्च को रिलीज़ होगी।
















जैसा की हम जानते हैं की कृष्णा अभिषेक कमाल के एक्टर डांसर हैं ,इनकी नई कॉमेडी हिंदी फिल्म शर्माजी की लग गई १५ मार्च को रिलीज़ होने जा रही है। इस फिल्म में कृष्णा अभिषेक के साथ मुग्धा गोडसे ,श्वेता खंडूरी ,बृजेन्द्र काला ,हेमंत पांडे , टीकू तलसानिया ,हिमानी शिवपुरी ,मुकेश तिवारी भी काम कर रहे हैं। इस फिल्म के लेखक- निर्देशक हैं मनोज शर्मा ,संगीत दिया है प्रवीण भारद्वाज ने। इस फिल्म का निर्माण किया है रॉक माउंटेन प्रोडक्शंस के नीलकंठ रेग्मी ,वंशमणि शर्मा और ट्वीट एंटरटेनमेंट ने. ए के अरोड़ा और वत्सल बक्सी सहयोगी निर्माता हैं और कमल किशोर मिश्रा सह निर्माता हैं। ज़ी म्यूजिक कंपनी ने फिल्म का संगीत लांच किया है। 

फिल्म की कहानी है नार्थ इंडिया के एक शहर की जहाँ शर्माजी (बृजेन्द्र काला ) अपनी ख़ूबसूरत और जवान बीवी शोभा (मुग्धा गोडसे ) के साथ रहते हैं। शर्माजी एक प्रोफेसर हैं पर एक झुनझुना नाम के अख़बार में काम करते हैं जिसका मालिक मुरली ( कृष्णा अभिषेक ) है जो एक जवान और कमाल का इंसान है। शर्माजी पेपर में लोगों को सेक्स का समाधान बताते हैं जो काफी प्रसिद्ध हो गया है। नेता हो या पुलिस हो या आम आदमी हर कोई शर्माजी से सेक्स का समाधान पूछने आता रहता है। 
ललन ( हेमंत पांडे ) एक छोटा मोटा गुंडा है जो मार्किट में शोभा को छेड़ देता है। शोभा शर्माजी को अपनी कहानी सुनती है पर शर्माजी कहते हैं की गुंडों से दूर रहना चाहिए।पर मुरली को पता चलता है तो वो जाकर ललन को खूब मारता है और उसे जेल में बंद करा देता है इंस्पेक्टर तिवारी ( मुकेश तिवारी ) की मदद से। इस कारनामे से शोभा बहुत खुश होती है पर शर्माजी चिंतित हो जाते हैं। 
ललन की माँ (हिमानी शिवपुरी ) शर्माजी को मिलकर अपने बेटे को छुड़ाने के लिए कहती है। शर्माजी माँ की बात सुनकर पुलिस स्टेशन जाते हैं ललन को छुड़ाने पर इंस्पेक्टर तिवारी मना कर देता है कहता है ऊपर से मना है इसे छोड़ने के लिए। ललन हवालात से कहता है - शर्माजी आपकी बीवी शोभा और मुरली का कुछ चक्कर चल रहा है। फिर आगे क्या होता है। .. ये देखने के लिए फिल्म देखनी पड़ेगी। 

साक्षात्कार डाट काम

साक्षात्कार डाट काम सूचित करता है। अब उन ही खबरों को अपडेट किया जाएगा , जिस इवेंट , प्रेस कांफ्रेंस में खुद शरीक हो रहा हू । इसका संपादन एडिटर इन चीफ सुशील गंगवार के माध्यम से किया जाता है। अगर कोई ये कहकर इवेंट , प्रेस कॉन्फ्रेंस अटेंड करता है कि मै साक्षात्कार डाट कॉम या इससे जुडी कोई और न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम करता हू और पैसे का लेनदेन करता है, तो इसकी जिम्मेदारी खुद की होगी। उसकी कोई न्यूज़ साक्षात्कार डाट कॉम पर नहीं लगायी जायेगी। ..
Sushil Gangwar