Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

भड़ास के सम्मान के जरिए जो कमाया है, वह मेरे जीवन संघर्ष का निचोड़ है’

Ashwini Kumar Srivastava
मीडिया में 10-12 बरस नौकरी करके और फिर 2011-12 से बिज़नेस में उतर कर बहुत कुछ गंवाया भी और कमाया भी। लेकिन आज जो कमाया है, यह तो सचमुच मेरे उस गंवाने-कमाने के जीवन संघर्ष का निचोड़ ही है। मीडिया के सबसे दबंग पत्रकार Yashwant Singh जी और उनकी संस्था Bhadas4media ने मुझे उद्यमिता सम्मान से नवाजा है।
भड़ास4मीडिया ने अपने 10 बरस पूरे होने के जलसे में नोएडा के पांच सितारा होटल रेडिसन ब्लू में 22 सितंबर को एक भव्य कार्यक्रम रखा है और उस मौके पर मुझे भी सम्मानित करने के लिए आमंत्रित किया है।
इस खुशी और रोमांच के मौके पर मैं यह कतई नहीं कहूंगा कि मैं इस अवार्ड के लायक नहीं हूँ क्योंकि मुझे डर है कि कहीं ऐसा कहते ही 22 सितंबर से पहले एक संशोधित लिस्ट न जारी हो जाये और यशवंत जी भी इस पर यकीन करके मेरा नाम ही उसमें से हटा दें…. 🙂
वैसे भी, यह अवार्ड मेरे लिए तो खासा महत्वपूर्ण है। क्योंकि मैं खुद चूंकि बरसों से यशवंत जी के साहस, बेबाकी और औघड़पन से प्रभावित रहा हूँ और साथ ही भड़ास ब्लॉग से लेकर इसके भड़ास4मीडिया तक के 10 बरस के जोरदार सफर में बतौर पाठक व लेखक भी जुड़ा रहा हूँ…
तो ऐसे में अगर आज 10 बरस बाद वह शख्स खुद आगे बढ़कर मुझे सम्मान दे रहा है, जिसका सम्मान मैं बरसों से करता आया हूँ…तो भला मैं इसे क्यों न अपने लिए एक बेहद बड़ी उपलब्धि मानूँ! जबकि मैं क्या, सारा मीडिया ही जानता है कि यशवंत जी ऐसे शख्स हैं, जिनसे सम्मान पाने के लिए देश का हर छोटा-बड़ा पत्रकार आतुर रहता है। मगर यशवंत जी हैं कि सच कहने की धुन में क्या छोटा और क्या बड़ा…हर पत्रकार को भड़ास के मंच पर आईना दिखा देते हैं।
उन्होंने जिनको सम्मानित किया है, वह लिस्ट मैंने देखी है और उसे देखकर मुझे और भी फख्र हो रहा है कि उन जैसे जीवंत, जुझारू और अपने-अपने क्षेत्रों में बेबाकी से अपना काम व नाम करने वाले ऐसे दिग्गजों के साथ मुझे भी यशवन्त जी ने इस सम्मान के लायक समझा। इस सम्मान से मैं बेहद अभिभूत हूँ इसलिए आपका तहेदिल से आभार प्रकट करता हूँ यशवंतजी…
#bhadas10
दिल्ली में पत्रकारिता करने के बाद इन दिनों लखनऊ में रियल इस्टेट की कंपनी का सफल संचालन कर रहे अश्विनी कुमार श्रीवास्तव की फेसबुक वॉल से
Sabhar- Bhadas4media.com.

No comments:

Post a Comment