Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

मीडिया में अब चालीस पार के लोगों की भर्ती बंद!

बड़े बैनर के मीडिया संस्थानों ने 40 के बाद की भर्ती बन्द कर दी है. ये नए जमाने का नियम है. ये मीडिया मालिकों का अपना नियम है. ये मीडिया मालिक खुद को कानून से परे मानते हैं. यही कारण है कि इनके यहां जो 50 पार के पत्रकार बचे हैं, उन्हें निकालना भी शुरू कर दिया है.
इसके चक्कर में कई माँ सरस्वती के ईमानदार खबरनवीसों पर भी गाज गिरी और गिर रही है. क्यों… इसका कारण है कथित रैकेट वाला पत्रकार मालिकों के चरणों मे घुसा हुआ है और चापलूसी से दूसरे अपने साथी पत्रकारों को नीचा दिखा रहा है. आज दिल्ली में करीब 150 से ऊपर नामी पत्रकार दयनीय स्थिति में पहुच चुके हैं. मजीठिया वेज बोर्ड को कानून के सहारे छोड़कर मालिक मजे ले रहे हैं और ईमानदारी से काम करने वालों को निकाल फेंका जा रहा है.
मोदी सरकार, कर्नल राठौर साब इनके बारे में कुछ सोचो, जागो. सारे नियम कायदे का उल्लंघन मीडिया हाउसेज करते हैं पर उन पर लगाम लगाने वाला कोई नहीं है. आखिर सत्ता की पूंछ क्यों इन मीडिया हाउसेज से दबी रहती है. कहीं सरकारें मीडिया का अपने हित में भोंपू की तरह इस्तेमाल करके उन्हें नियम कानून उल्लंघन करने का खुला छूट तो नहीं दे देती हैं…. इस पर भी सोचना होगा. जब तक मीडियाकर्मियों की तगड़ी एकजुटता नहीं होगी, तब तक सरकारें और मालिक उन्हें उल्लू समझते रहेंगे.
लेखक प्रदीप महाजन दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार हैं.
Sabhar- Bhadas4media.com

No comments:

Post a Comment