हाथरस के पत्रकार को जान से मारने की धमकी पर प्रेस कांउसिल गंभीर, नोटिस जारी

हाथरस । पत्रकार अनिल कश्यप को सितम्बर माह 2017 में एक कॉल सेन्टर संचालक द्वारा फोन पर गाली-गलौज बकते हुए जान से मारने की धमकी दिए जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए भारतीय प्रेस परिषद, नई दिल्ली (प्रेस कांउसिल आफ इंडिया) ने हाथरस के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, सी0ओ0 सिटी हाथरस एवं कोतवाली प्रभारी निरीक्षक जसपाल सिंह पवार सहित उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव एवं उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक व सचिव गृह (पुलिस) विभाग, उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ एवं धमकी देने वाले काल सेंटर संचालक को लिखित वक्तव्य के लिए दो सप्ताह का समय देते हुए नोटिस जारी किया है।
भारतीय प्रेस परिषद, नई दिल्ली (प्रेस कांउसिल आफ इंडिया) के अध्यक्ष के आदेश पर प्रेस परिषद की सचिव विभा भार्गव ने जारी किये गए नोटिस में कहा है कि प्रेस की स्वतंत्रता पर अतिक्रमण / कुठाराघात को देखते हुए प्रेस परिषद अधिनियम, 1978 की धारा 13(1) के साथ पठित अधिनियम की धारा 15(4) के अंतर्गत परिषद द्वारा क्यों न उक्त सभी लोगों के विरूध्द कार्यवाही की जाए?।
उल्लेखनीय है कि शहर में अवैध काल सेन्टर संचालकों द्वारा ठगी के मामलों के सम्बंध में दैनिक समाचार पत्रों में खबरें प्रकाशित होने पर शहर के ही मथुरा रोड, राजरानी मेहरा गेस्ट हाउस के समीप चल रहे अवैध काल सेन्टर श्री राधे टेली शापिंग काल सेन्टर के संचालक मोहित वर्मा ने 11 सितम्बर 2017 को पत्रकार अनिल कश्यप को उनके मोबाइल फोन पर सुबह करीब साढ़े 10 बजे गाली-गलौज बकते हुए जान से मारने की धमकी दी थी।
पत्रकार अनिल कश्यप ने जान से मारने की मिली धमकी की लिखित में शिकायत उसी दिन कोतवाली प्रभारी निरीक्षक हाथरस जसपाल सिंह पवार एवं पुलिस अधीक्षक सुशील घुले को दी थी और एस0पी0 ने पत्रकार अनिल कश्यप के लिखित शिकायती पत्र पर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक जसपाल सिंह पवार को निर्देशित करते हुए कार्यवाही के लिए भी लिखा था, लेकिन कोतवाल जसपाल सिंह पवार ने एस0पी0 के लिखित निर्देशों को ठेंगा दिखाते हुए एवं एस0पी0 के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए कोतवाल ने अपनी मनमानी करते हुए एवं काॅल सेन्टर संचालक से सांठ-गांठ करके काॅल सेन्टर संचालक के विरूध्द कोई भी कार्यवाही नहीं की और न ही पत्रकार अनिल कश्यप की कोतवाल जसपाल सिंह पवार ने लिखित में तहरीर दिये जाने के बावजूद भी उनकी कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की और पुलिस अधीक्षक के आदेशों को भी रद्दी की टोकरी में डाल दिया।
जब एस0पी0 के आदेश के बावजूद भी कोतवाल जसपाल सिंह पवार ने पत्रकार अनिल कश्यप को गाली-गलौज बकते हुए जान से मारने की धमकी दिये जाने वाले काल सेन्टर संचालक मोहित वर्मा के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की तो, पत्रकार अनिल कश्यप ने विवश होकर भारतीय प्रेस परिषद, नई दिल्ली (प्रेस कांउसिल आफ इंडिया) को विगत 4 अक्टूबर 2017 को शिकायती प्रार्थना पत्र भेजकर सम्बन्धित दोषी अफसरों एवं कोतवाल जसपाल सिंह पवार तथा धमकी देने वाले काल सेन्टर संचालक मोहित वर्मा के विरूध्द आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने की अपील की थी।
हाथरस से संदीप पुण्ढीर की रिपोर्ट.
Sabhar-Bhadas4media.com
हाथरस के पत्रकार को जान से मारने की धमकी पर प्रेस कांउसिल गंभीर, नोटिस जारी हाथरस के पत्रकार को जान से मारने की धमकी पर प्रेस कांउसिल गंभीर, नोटिस जारी Reviewed by Sushil Gangwar on November 08, 2017 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads