चलो कुछ कहे।

क्या  कहू। . ये ही सबसे बड़ा सवाल है।  वैसे तो कहने को बहुत कुछ है मगर अब तक चुप हूँ  .

एडिटर
सुशील गंगवार 
Reviewed by Sushil Gangwar on May 30, 2017 Rating: 5

No comments