मै एक्टिंग के अलावा कुछ और नहीं कर सकता हु ........निशिकांत दीक्षित


मै एक्टिंग के अलावा कुछ और नहीं कर सकता हु ........

कभी सपना था एक्टर बनने जो सच हो गया। ,मै तो पेशे से इंजीनियर था। एक दिन जब मैंने अपने पिता को बताया की ,मै अब ये नौकरी नहीं कर सकता हु। तो बोले फिर क्या करोगे। .

मैंने कहा। . एक्टर बनुगा और मुंबई जाउगा। पिताजी बोले . . लोग इस उम्र में अपना घर बनाते है फैमिली देखते है तुम एक्टर बनोगे। . एक बार सोच लो। फिर कुछ करो। खैर मैंने अपनी मर्जी से मुंबई आ गया और यहाँ पर भी नौकरी करने लगा। 

वक़्त ने करवट ली। . मैंने अपना सपना पूरा किया। मुझे ख़ुशी है जो मैंने सोचा वह हो गया। मुंबई का दिल बहुत बड़ा है जो दिल से करे -दिल से मांगे, ये शहर कभी निराश नहीं करता है। 

शुरू में थोड़ी दिक्कत आती है मगर सब कुछ मिलता है। मैंने अपने आप पर भरोसा किया। मै तो एक्टिंग करने के लिए इस दुनिया में आया हु फिर दूसरे की नौकरी क्यों ?

मेरी पहली फिल्म २००४ में दीवार आयी। . मुझे बहुत संघर्ष नहीं करना पड़ा। वैसे साहित्य तो ब्लड में है। मेरे पिता श्री ओम प्रकाश शर्मा जी जाने माने कवि है। 

अब तक मैंने ३५ फिल्म और ८०-९० टीवी सीरियल किये है। लोग मुझे पहचान लेते है ये मेरे लिए बड़ी बात है। कभी मैंने किसी रोल को छोटा बड़ा नहीं समझा। जो मिला उसे जी जान से किया।

मेरी आने वाली फिल्म देशी कट्टे आ रही है जिसमे मैंने जेलर शुक्ला का किरदार निभाया है। डी डी पर ये शादी या सौदा चल रहा है। लोग बेनी राम का रोल पसंद कर रहे है। समय समय पर सावधान इंडिया , क्राइम पेट्रोल करता रहता हु। 

कोम्प्रोमाईज़ उफ़ ये तो होता है मगर किस आधार पर ये आपको तय करना है। मुझे ऐसा लगता है अगर आपके पास टैलेंट है तो ये कोम्प्रो बीच में नहीं आता है

अभी मैंने एक एक्टिंग सीखाने का इंस्टिट्यूट खोला है जिसका नाम एक्टिंग इंस्टिट्यूट फिल्म एंड थिएटर है। जो कौशाम्बी ग़ज़िआबाद में है 

जहा पर फिल्म और थिएटर दोनों की तालीम दी जाती है। जो लोग एक्टिंग फील्ड में आना चाहते है वो थोड़ा अपनी ट्रेनिंग करके आये तो मुंबई में काफी आसानी होगी। 

This interview taken by Editor Sushil Gangwar for Sakshatkar.com
मै एक्टिंग के अलावा कुछ और नहीं कर सकता हु ........निशिकांत दीक्षित मै एक्टिंग के अलावा कुछ और नहीं कर सकता हु ........निशिकांत दीक्षित Reviewed by Sushil Gangwar on April 13, 2017 Rating: 5

No comments