Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

मै इम्तियाज जी शुक्रिया अदा करना चाहुगा --दुर्गेश कुमार



कभी मैंने सोचा नहीं था मै एक्टर बनुगा, मगर किस्मत खुद तय कर देती आपको क्या करना है सपना तो इंजीनियर बनने का था. घर में कोई एक्टिंग का माहोल नहीं था।

पिताजी कॉमर्स के प्रोफेसर है। मगर एक्टर बन गया मै बिहार दरभंगा का रहने वाला हु।

मैंने इग्नू ग्रैजुएशन किया और उसके बाद नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा ज्वाइन किया। सच कहु ये मेरी जिंदगी का बड़ा दिन था।

मुझे अपने भाई पर गर्व है उसने ही मुझे नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा का रास्ता बताया। तीन साल स्कूल में देने के बाद, मैंने रेपेटरी ज्वाइन कर लिया . ।

मुझे पहला ब्रेक फिल्म हाईवे में मिला। जिसमे मेरा रोल ट्रक कंडक्टर का था। जो काफी सराहा गया। हकीकत ये है मै इम्तियाज जी का शुक्रगुजार हु।

वह मेरी प्रतिभा को परख सके और अपनी फिल्म हाईवे में काम दिया। अभी मै फिल्म जग्गा जासूस , और ड्रीम जॉब कर रहा हु।

आने वाला कल मेरा है। नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा ने बहुत कुछ दिया है। जीवन में वह काम में आएगा जो मैंने सीखा है।

जो लोग बॉलीवुड में आना चाहते है उनके लिए ये ही कहुगा जो भी करे दिल से करे और पूरी तैयारी के साथ करे।


This interview taken by Editor sushil Gangwar for Sakshatkar.com or Filmipr.com

No comments:

Post a Comment