बोलने की आजादी

बोलने की आजादी और हम  जिन्दा है।  बोलने का मतलब ये नहीं कुछ भी बोले।   देश के खिलाफ बोलना ही अपने में जुर्म है।  फिर ऐसे कडुवे बोल क्यों ? 
बोलने की आजादी बोलने की आजादी Reviewed by Sushil Gangwar on March 02, 2017 Rating: 5

No comments