Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Tuesday, 6 October 2015

सुरभि का प्रथम काव्य संकलन

सुरभि का प्रथम काव्य संकलन मेरे सामने है और मैं सोच रहा हूं कि कविता आखिर क्या है। वही जो आपके दिल में बेचैनी, पीड़ा, छटपटाहट या फिर प्यार बनकर उभरती है। सुरभि की कविताएं उनके दिल की बेचैनी और छटपटाहट से उपजी हुई हैं। इन कविताओं में बड़े कवियों की तरह अछूते बिंब नहीं हैं, लेकिन एक सीधे-सादे कवि के सहज हृदय का कोमलपन और सरलता है। इन कविताओं को इसी तरह पढ़े जाने की जरूरत है।
यह कवयित्री का पहला संग्रह है इसलिए इसमें आपको एक पहलापन भी नजर आएगा - लेकिन यह आशा की जानी चाहिए कि भविष्य में लिखते हुए उनका कवित्व एक ऊंचाई पर पहुंचेगा। सुरभि की कविताओं में प्यार है, घर है, जुदाई है और दुनिया को देखने की अपनी एक अलग आंख है।
यह कवयित्री अपनी सहजता और सरलता में ही अपना कवित्व संभव करती है। कवयित्री के पहले कविता संग्रह के लिए ढेर सारी बधाइयां और उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं...
विमलेश त्रिपाठी द्वारा की गयी समीक्षा ......

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90