Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Thursday, 16 July 2015

कोम्प्रोमाईज़ करो एक्ट्रेस बनों : रेखा सरकार

 173  0  0  0 rekha sarkar
अपने बारे में बताये ?
मेरा नाम रेखा सरकार है, मैं गांधी नगर (पुरानी दिल्ली) मध्यवर्गीय फैमली की रहने वाली हुँ. मेरे पापा बिज़नेस मैन और माँ हाउस वाइफ है.
आपका फिल्मों में आना कैसे हुआ ?
बचपन से मुझे एक्टिंग का शौक था. स्कूल टाइम में हर डांस, एक्टिंग, स्टेज शो कम्पटीशन प्रतियोगिता में भाग लिया करती थी. डांस और म्यूजिक से मुझे बेहद लगाव है, मैंने दस साल की उम्र में पहली बार डांस कम्पटीशन में हिस्स लिया जो नैनीताल में हुआ था यही से मेरी एक्टिंग लाइफ का शुरुआवत हुआ है.
आपने एक्टिंग का प्रशिक्षण कही से लिया है ?
मैं थेयटर आर्टिस्ट हुँ, मैंने स्मिता पाटिल थेयटर ग्रुप से कई नुकड-नाटक में काम किया, साथ ही दिल्ली के विभिन्न इलाकों में इस ग्रुप के जरिये स्टेज किया.
आप को पहला ब्रेक कब मिला ?
मुझे सबसे पहले मुझे हिंदी सीरियल लौट आये तृषा में ब्रेक मिला. मेरे लिए यह सीरियल चैलेंजिंग और खुशियों से भरा रहा. मेरे एक्टिंग को देख कर एक और हिंदी सीरियल याम है हम में काम करने का मौका मिल गया. यह मेरे लिए दोहरे ख़ुशी लेकर आई .इस सीरियल में भी मेरे काम की बहुत सराहना हुई जिसे मुझे और अच्छा काम करने की प्रेणना मिली. अभी मैं एक हिंदी फिल्म कर रही हुँ जल्द ही मुझे आप ग्लैमर अवतार में देखेंगे.
वर्तमान में बन रहे फिल्मों के बारे में क्या राय है ?
समय के साथ सब को बदलना पड़ता है यह तो फिल्म इंडस्ट्री है फिल्म इंडस्ट्री ही मार्किट ट्रेंड स्थापित करती है तो फिल्में तो बदलेंगी ही. आज की फिल्में बहुत ही कलरफुल हो चला है. यंग जनरेशन का डिमांड ही यही है.
आप के एक्टिंग कैरियर में परिवार का कितना सहयोग है ?
आज मैं कुछ भी हुँ सिर्फ अपने माँ के कारण हुँ, एक्टिंग करना मेरा शौक और एक्ट्रेस बनाना मेरी माँ का सपना…. मेरी माँ का सपना और मेरी ख़ुशी दोनों एक हो चली माँ का साथ हमेशा मेरे साथ है कभी कभी तो जान ऑडिशन देने जाती हुँ तो माँ भी साथ होती है.
कैमरा फेस करते वक्त कोई डर ?
कैमरा फेस करते वक्त बिलकुल भी डर नही लगता बल्कि मैं तो बिंदास हो जाती हुँ. हम एक्टर और एक्ट्रेस के लिए कैमरा ही भगवन है. जब मैं छोटी थी तब मैं मिरर के सामने एक्टिंग किया करती थी, तब मिरर ही मेरे लिए कैमरा था. आज जब मैं कैमरा के सामने होती हुँ तो अपने आप को ज्यादा खुश पाती हुँ.
आप अपना आदर्श किसे मानती है ?
मेरी आदर्श वैसे तो मेरी माँ है, दिव्या भारती, रेखा जी, माधुरी दिक्षित जैसे लोगो की एक्टिंग की कायल हुँ, वैसे मैं सब को पसन करती हुँ सब से कुछ न कुछ सिखने की कोशिश करती रहती हुँ.
स्ट्रगल टाइम की कुछ घटना बताये ?
स्ट्रगल तो हर किसी स्टार के लाइफ में लिखा होता है. कुछ पाने के के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. जब मुंबई आई थी तब जो कांटेक्ट मिलता उनसे मिलने के लिए बिलकुल खुद को रेडी करके निकल पड़ती थी, दिन रात ऑडिशन दिया करती थी और वहाँ से कॉल आने का इंतज़ार करती थी, अगर एक दो जगह से कॉल आती भी थी तो वहाँ लोगों की अजीब अजीब तरह की बातें सुनने को मिलती थी, उनकी बाते सुनकर ऐसा लगता था की हम अाये ही क्यों मुंबई ? उनके अनुसार एक्ट्रेस बनना है तो कोम्प्रोमाईज़ जरुरी है बिना कोम्प्रोमाईज़ कोई एक्ट्रेस नही बन सकता.
आप को किस तरह का रोल पसंद है ?
मुझे चैंलेंगी रोल करना पसंद करती हुँ जिसमे एक्टिंग दिखने लायक कुछ हो. स्क्रिप्ट के डिमांड के अनुसार बोल्ड ग्लैमर हर तरह का रोल करना पसंद करूंगी.
You can contact for work – 9867533285

Thanks - Indiacinenews.com

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90