Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Monday, 22 June 2015

फेसबुक...प्यार...प्रेमी...पति और मर्डर!

नई दिल्ली। अगर आप फेसबुक पर हैं तो ये स्टोरी आपके लिए बेहद अहम हैं। अगर आप अंजान लोगों से दोस्ती करने के शौकीन हैं तो ये स्टोरी जरूर देखिए। क्योंकि अंजान दोस्ती का अंजाम घर की बर्बादी तक भी पहुंच सकता है। क्योंकि गुजरात के कच्छ में फेसबुक की वजह से एक शख्स की जान चली गई तो एक संपन्न परिवार तबाह हो गया।
44 साल की तरुणा और 28 साल के मंजीत के बीच प्यार की पींगे सातवें आसमान पर हैं। और इस रिश्ते का जन्मदाता है वही फेसबुक जिसने दुनिया भर में लाखों नए रिश्तों को जन्म दिया है। दोनों फेसबुक के जरिए दोस्त बने। फिर एक दूसरे की तस्वीरों पर लाइक और कमेंट के जरिए एक दूसरे में अपनी दिलचस्पी जाहिर करते रहे। और उसके बाद चेट हुई तो मामला फेसबुक से निकल असली जिंदगी में शामिल हो गया।
फिर फोन पर बातचीत और उसके बाद मुलाकातों का सिलसिला भी शुरू हो गया। दोनों की जिंदगी में कई किरदार थे। उन्हीं में सबसे अहम किरदार राजेश चतुरानी है। आपको बता दें राजेश चतुरानी अपने शहर का जानामाना कारोबारी है और असली जिंदगी में तरुणा का पति है।
फेसबुक पर बीवी के इश्क का फसाना आम हो चुका था खबर पति तक भी पहुंच गई। दोपहर करीब बारह बजे शहर के डीबीजेड इलाके की रहने वाली तरुणाबेन चतुरानी पुलिस स्टेशन आई और बताया कि मेरे घर में बड़ौदा का रहने वाला मेरा दोस्त मनीष आया हुआ था, मेरी मनीष की दोस्ती मेरे पति राजेश चतुरानी को पसंद नहीं थी।
आज सुबह जब मनीष मुझसे मिलने मेरे घर आया था मैं मेरे कमरे में सोई हुई थी शोर होने पर मैंने देखा कि मेरे पति और मनीष में हाथापाई हो रही है, मैंने बीच बचाव की काफी कोशिश करी लेकिन वो नहीं माने, मेरे पति ने चाकू से मनीष के सीने और पेट पर बहुत वार किए।जिससे वह घायल हो गया।
फेसबुक पर उपजे प्रेम का अंत एक कत्ल पर जाकर खत्म हुआ। तरुणा के प्रेमी की खून से लथपथ लाश उसी के बेडरूम में पड़ी थी। कत्ल का आरोपी पति फरार हो चुका था। और तरुणा थाने में अपने ही पति के खिलाफ गवाही दे रही थी। पुलिस जांच में तरूणा चतुरानी ने मंजीत के साथ सिर्फ मित्रता होने की बात कही है।
पुलिस ने जब मौक-ए-वारदात का मुआयना किया तो ये साफ हो गया कि तरुणा के पति और प्रेमी के बीच जमकर संघर्ष हुआ था। मंजीत का शव देखकर अंदाजा हो रहा था कि तरुणा का पति गुस्से में अपने होश खो चुका था। क्योंकि शव पर चाकू से कई वार किए गए थे।
तरुणा ने तो इस मामले अपने पति को पूरी तरह कसूरवार ठहराने की कोशिश की। लेकिन जब पुलिस ने गहन जांच पड़ताल की तो कई बातों का खुलासा हुआ। तरुणा के उसके पति के साथ संबंध काफी वक्त से खराब चल रहे थे। इससे पहले तरुणा अपने पति के खिलाफ उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी थी।
हालांकि बाद में आरोप वापस ले लिए थे। तरुणा कच्छ की रहने वाली थी। जबकि मृतक मंजीत ज्ञानचंदनी बड़ौदा का निवासी था। लेकिन ये फेसबुक की ही करामात थी कि मीलों दूर बैठे दो लोगों में प्यार पनप गया। लेकिन दोनों ही रसूखदार थे इस लिए उनके रिश्ते पूरे शहर में चर्चा का विषय बने हुए थे। लेकिन इन दोनों ने अपने रिश्ते को छुपाने के बजाए और फिर मशहूर करना शुरू कर दिया।
क्योंकि दोनों अक्सर मिलते थे साथ में तस्वीरें खींचते थे और फिर उसे फेसबुक पर भी शेयर करने लगे। जाहिर है जिस रिश्ते की चर्चा शहर भर में थी उससे तरुणा का पति कैसे अंजान रह सकता था। उसे भी खबर हो चुकी थी कि लेकिन तरुणा और मंजीत के हौसले और भी बढ़ चुके थे।
अपने पति से बेफिक्र तरुणा ने मंजीत को अपने घर बुला लिया। बस उसके बाद जो कुछ हुआ वो तो आप देख ही चुके हैं। लेकिन इस हत्याकांड में कई अनसुलझे सवाल अब भी बाकी हैं जिन्हें सुलझाना पुलिस के लिए आसान नहीं होगा। वारदात का वक्त सुबह 7.30 बजे का है, तो तरुणा ने 5 घंटे बाद पुलिस को जानकारी क्यों दी।
तरुणा ने मौके पर एंबुलेंस को क्यों नहीं बुलाई, तरुणा ने अपने दोनों मोबाइल फोन की कॉल हिस्ट्री क्यों डिलीट की, तरुणा ने बताया कि रंजीत अपने साथ चाकू लाया था, इस बात में कितनी सच्चाई है। बहरहाल जांच पड़ताल के बाद पुलिस सभी सवालों के जवाब ढूंढ़ ही लेगी। लेकिन ये पूरी घटना उन सभी लोगों के लिए सबक है जो फेसबुक की तिलिस्मी दुनिया में जाने के बाद अपनी असली जिंदगी को भूल जाते हैं।
http://khabar.ibnlive.com/news/city-khabrain/facebook-murder-love-story-gujarat-384285.html

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90