वक़्त के सब कुछ मिल जाता है। .फरहा कादर




वक़्त के  साथ  सब  कुछ मिल जाता है। .फरहा  कादर

बॉलीवुड में आना मेरा अचानक हुआ। .मै  तो समाज सेवा कर रही थी ,करीव चार साल तक मैंने बी जे पी के साथ काम किया।  फिर  एक मेरी दोस्त से सलाह दी आप बॉलीवुड में जाए।

फिर मैंने आना पोर्टफोलियो बनाया और  टीवी और फिल्मो के लिए कोशिश करने लगी।  मगर मुझे महसूस हुआ।  कुछ तो कमी है इसे पूरा करना पड़ेगा।

फिर मैंने चार महीने का  एक्टिंग  कोर्स लाइव वायर  किया।  मै अपने टीचर सुतेंदेर सिंह का थैंक्स कहना चाहुगी।  वो वहुत अच्छे टीचर है। एक्टिंग कोर्स करने से  लोगो में कॉन्फिडेंस  आता है।  उनको  पता चल जाता है आखिर जाना कहा है और कैसे।


  आज मै जो कुछ भी हु वो अपने टैलेंट , माँ और नानी जी की बजह से हु।  जीवन में  काफी कुछ चेंज हुआ है और आगे भी होता रहेगा।

  मै  तो सोचती भी नहीं थी कि  मै एक्टिंग करुँगी।  पर कर रही हु। जो भी करो यारो दिल से करो।  आप अपने दिल की आवाज जरूर गौर से सुनो।  हो सकता है आप सही हो।

मैंने फिल्म मर्री कॉम , सिंगम रेतुर्न , और टीवी सीरियल  जोधा अकवर ,ये है महुब्बते , बेइंतिहा अादि की  है।

मेरी आने वाली फिल्मे मरजाबा ,शमी तभ आ रही है।  मै हैदर जी का नाम लेना नहीं भूलती हु। . राजनीती में जो कुछ सीखा है  वो हैदर जी से सीखा है। अगर जीवन में मौका मिला तो एक्टिंग के साथ राजनीति भी करना चाहुगी।

This interview taken by Editor Sushil Gangwar for Sakshatkar.com - Call -09820296788
वक़्त के सब कुछ मिल जाता है। .फरहा कादर वक़्त के सब कुछ मिल जाता है। .फरहा  कादर Reviewed by Sushil Gangwar on November 03, 2014 Rating: 5

No comments