कलाकार तो जनम जात होता है . ट्रैनिंग स्कूल आपको पोलिश करते है। ---एक्टर जसवंत सिंह



आपका सफ़र...


हकीकत ये है ढावा ही मेरा स्कूल था।  एक्टिंग और मिमिक्री मैंने अपने ढावे पर बैठ कर सीखी।  आज कल ढाबे को भाई देख रेख कर रहा है  एक्टिंग का फ़िल्मी क्रीड़ा शुरू से मेरे जेहन में रहा।  मै खुद नहीं जनता था की मै बॉलीवुड में अपनी जगह बना पाउगा।



आपकी आने वाली फिल्मे..

 सिक्का ,मुख्तयार चढ़ा



गाड़फादर....

गाड़फादर  बहुत जरुरी है। मै ये खुद चाहता हु मै किसी का गाड़फादर   बनू।  ये मेरी दिली तमन्ना है।  मेहनत कर रहा हु।  सोचना तो मेरा हक़ है बाकी तो रब दी मर्जी।




ट्रैनिंग ....

बॉलीवुड में ट्रैनिंग लेना जरुरी भी और नहीं।  ट्रैनिंग स्कूल आजकल नए टैलेन्ट का मिसयूज़ करते है। कलाकार तो जनम जात होता है  . ट्रैनिंग स्कूल आपको पोलिश करते है।


This interview taken by sushil Gangwar



कलाकार तो जनम जात होता है . ट्रैनिंग स्कूल आपको पोलिश करते है। ---एक्टर जसवंत सिंह कलाकार तो जनम जात होता है  . ट्रैनिंग स्कूल आपको पोलिश करते है।  ---एक्टर जसवंत सिंह Reviewed by Sushil Gangwar on March 19, 2014 Rating: 5

No comments