एनडीटीवी गुड टाइम्स की CEO बोलीं, LiveYoung संग दिखेगा बड़ा बदलाव

आबिद हसन
पांच साल पूरे कर लेने के बाद एनडीटीवी गुड टाइम्स ने जवां सोच रखने वालों तक पहुंचने के लिए री-पोजिशनिंग, री-ब्रैडिंग और री-प्रोग्रामिंग पर नए सिरे से फोकस किया है। चैनल की नजर कंज्यूमर्स की पसंद और प्राथिमकताओं पर है। अब वह नई टैगलाइन #LiveYoung के साथ अपने दर्शकों को उनका मनपसंद कंटेंट मुहैया कराने पर फोकस करेगा।

एक्सचेंज4मीडिया के साथ बातचीत के दौरान एनडीटीवी लाइफस्टाइल की सीईओ स्मिता चक्रवर्ती ने नई टैगलाइन के पीछे की सोच, भारत में लाइफस्टाइल जेनरे की ग्रोथ के कारणों समेत कई विषयों पर अपनी राय जाहिर की। पेश है उनके साथ हुई बातचीत के कुछ अंश :

रुपये में गिरावट से पूरा कॉरपोरेट जगत प्रभावित हुआ हैइसमें मीडिया कंपनियां भी शामिल हैं। एडवरटाइजिंग पर इसका कितना असर पड़ा हैऔर क्या हमें स्थितियों में जल्द बदलाव देखने को मिलेगा ?
इस वक्त माहौल चुनौतीपूर्ण और अस्थिर है। लेकिन हम रुपये और बाजार की हालत में सुधार से उत्साहित हैं। हमें अगले साल की शुरुआत मजबूत होने की उम्मीद है।

खास दर्शक वर्ग के लिए बने चैनलों की सब्सक्रिप्शन रेवेन्यू बढ़ रही हैजबकि उनकी कैरिएज फीस में गिरावट आ रही है। इस पर आपका क्या कहना है ?
हां, कैरिएज फीस में गिरावट आ रही है, हालांकि हमें सब्सक्रिप्शन मार्केट में सुधार की उम्मीद है।

नई टैगलाइन #liveyoung के पीछे क्या सोच है ? इसके जरिये युवा दर्शकों को आकर्षित करने की योजना के बारे में बताइये ?
हम युवाओं, फूड, ट्रैवल और फैशन पर फोकस कर लाइफस्टाइल एंटरटेनमेंट सेगमेंट को नए सिरे से परिभाषित कर रहे हैं। हमारे कंटेंट, लुक, फील और पैकेजिंग से अब ये बदलाव साफ देखने को मिलेगा। हम देश में अकेले ऐसे ब्रैंड हैं जिसने सोशल मीडिया को अपने डीएनए में शामिल किया है। हमारी योजना डिजिटल मीडिया का फायदा उठाते हुए बदलाव की बयार को बढ़ावा देने की है ।

 लाइफस्टाइल के क्षेत्र की ग्रोथ में किन चीजों की भूमिका है ?
भारतीय लोग बढ़िया जीवन जीना चाहते हैं, अच्छा खाना चाहते हैं और ज्यादा घूमना चाहते हैं। हमारे ये लिए गहराई में जाकर यह समझना जरूरी है कि भारत लाइफस्टाइल, मजबूत एडवरटाइजर कनेक्ट और ‘हाइवे ऑन माय प्लेट’ और ‘बैंड, बाजा, ब्राइड’ जैसेकार्यक्रमों को किस तरह से देखता है।

आगे एनडीटीवी लाइफस्टाइल का फोकस किन क्षेत्रों पर रहने वाला है ?
हमारा फोकस भारत का सबसे युवा लाइफस्टाइल चैनल बनना है। हमें स्पष्ट रूप से पता है कि हमारा ऑडियंस कौन सै है, उसे क्या पसंद है, वो क्या पसंद करेगा और वह कहां से और किस तरह से कंटेंट कंज्यूम करता है। हमें भरोसा है कि इस बदलाव के साथ हम अपने दर्शकों के साथ ज्यादा प्रासंगिक रूप के संग गहराई से जुड़ सकेंगे।

Sabhar- samachar4media.com
एनडीटीवी गुड टाइम्स की CEO बोलीं, LiveYoung संग दिखेगा बड़ा बदलाव एनडीटीवी गुड टाइम्स की CEO बोलीं, LiveYoung संग दिखेगा बड़ा बदलाव Reviewed by Sushil Gangwar on December 08, 2013 Rating: 5

No comments