Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

रेप मामले को दबाने को रिश्‍वत: नारायण साईं के पांच साथी और एक एसआई हिरासत में, 5 करोड़ रुपये जब्त

रेप मामले को दबाने को रिश्‍वत: नारायण साईं के पांच साथी और एक एसआई हिरासत में, 5 करोड़ रुपये जब्तज़ी मीडिया ब्‍यूरो 

सूरत : प्रवचनकर्ता आसाराम के पुत्र नारायण साईं के पांच साथियों और एक सब इंस्पेक्टर को रिश्वत के लेन देन के मामले में हिरासत में लेकर इनके कब्जे से 5 करोड़ रुपये बरामद किए गए। ये लोग पुलिसकर्मियों और अन्य अधिकारियों को साईं के खिलाफ यौन अपराध का मामला कमजोर करने की एवज में रिश्वत देने का प्रयास कर रहे थे। 

पुलिस ने बताया कि साईं के साथियों के पास से 5 करोड़ रुपये मिले हैं, जो पुलिसकर्मियों, डाक्टरों और न्यायिक अधिकारियों को रिश्वत देने के लिए थे। पुलिस उपायुक्त (अपराध) शोभा भूटाडा ने बताया कि सूरत की अपराध अन्वेषण शाखा में तैनात पीएसआई सी के कुंभणी को नारायण साई के पांच साथियों के साथ हिरासत में लिया गया, जो साई के खिलाफ यौन अपराध के मामले को कमजोर करने की एवज में रिश्वत दे रहे थे। 

पुलिस ने बताया कि नकद एक करोड़ रुपये साईं के साथी उदय संघानी से और चार करोड़ रुपये केतन पटेल से बरामद किए गए। पटेल यहां का रियल एस्टेट डेवेलपर है। पुलिस ने बताया कि छहों को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस के अनुसार पीएसआई कुंभणी को पैसा मांगने पर हिरासत में लिया गया। उसने वादा किया था कि वह साईं के खिलाफ मामले को कमजोर करने के लिए यह पैसा पुलिस अधिकारियों, डाक्टरों और न्यायिक अधिकारियों में बांट देगा। 40 वर्षीय नारायण साई बलात्कार के एक मामले में न्यायिक हिरासत में है। 

गौर हो कि साईं को दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हरियाणा सीमा पर उसके दो साथियों के साथ उनकी कार का पीछा करके गिरफ्तार किया और 4 दिसंबर को उसे यहां लाया गया। दो बहनों ने नारायण साई और उसके पिता आसाराम के खिलाफ हत्या, यौन शोषण, अवैध रूप से रोकना और अन्य आरोपों में शिकायत दर्ज कराई है। सूरत पुलिस ने साई के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं जिनमें बलात्कार, अप्राकृतिक यौनाचार, शील हरण, गलत तरीके से रोकना, गैर कानूनी तौर पर जमा होना, घातक हथियारों के साथ दंगा, आपराधिक तौर पर धमकाना और आपराधिक षड़यंत्र आदि में मामला दर्ज किया है। अपनी शिकायत में दो बहनों में से छोटी ने साई पर आरोप लगाया है कि उसने 2002 और 2005 के दौरान उसके साथ कई बार बलात्कार किया, जब वह उनके सूरत के आश्रम में थी।

बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ अपनी शिकायत में कहा है कि उसने 1997 और 2006 के बीच उसके साथ कई बार बलात्कार किया, जब वह अहमदाबाद के बाहरी इलाके में स्थित उसके आश्रम में रही थी। आसाराम के खिलाफ शिकायत शुरू में सूरत के जहांगीरपुरा थाने में दर्ज कराई गई थी, जिसे बाद में अहमदाबाद के चांदखेड़ा थाने में स्थानांतरित कर दिया गया क्योंकि कथित वारदात वहीं हुई थी। 72 वर्षीय आसाराम को इस समय जोधपुर की जेल में रखा गया है। उसे उसके जोधपुर आश्रम में एक नाबालिग लड़की के कथित यौन शोषण के आरोप में सितंबर में गिरफ्तार किया गया था

No comments:

Post a Comment