बहुत घटिया पत्रकार निकला अनुरंजन झा, देखिए स्टिंग की सच्चाई...

अनुरंजन झा काफी समय से मुख्य धारा की पत्रकारिता से बाहर हैं. उन्हें अब कोई न्यूज चैनल काम नहीं देता क्योंकि सबने जान लिया है कि ये बेहद विश्वासघाती और स्वार्थी व्यक्ति हैं, जहां काम करते हैं उसी की बैंड बजाने में यकीन रखते हैं. कई न्यूज चैनलों से होते हुए आखिर जब उन्हें कहीं ठिकाना न मिला तो एक धनपशु को भरोसे में लेकर शादी-बियाह का एक चैनल खोल दिया, 'शगुन टीवी' नाम से. खुद और खुद के चेल, पत्नी, परिजनों आदि को इस चैनल का हिस्सा बना दिया. पर जिसे एक बार अति-महत्वाकांक्षा, पैसे और प्रसिद्धि का रोग लग जाए तो वह अच्छा और गलत रास्ता नहीं देखता, वह नैतिकता और अनैतिकता में भेद नहीं करता. वह केवल अपना निजी फायदा देखता है.
रिलायंस जैसे कारपोरेट घरानों तक के करप्शन को उजागर करने वाले केजरीवाल व आम आदमी पार्टी के लिए दिल्ली का विधानसभा चुनाव लिटमस टेस्ट की तरह है, एक बड़े युद्ध की शुरुआती लड़ाई है. अगर आम आदमी पार्टी वाले दिल्ली में सरकार बना ले जाते हैं तो फिर तय मानिए कि पूरे देश में ये अपना विस्तार करेंगे और लोकसभा चुनाव में बिलकुल नया व बड़ा समीकरण बनाकर रख देंगे. इससे घबराए कार्पोरेट घरानों ने अपने अपने मीडिया हाउसों को इंसट्रक्ट कर दिया है कि अब केजरीवाल व आम आदमी पार्टी की कटाई-छंटाई-सफाई शुरू करो. आजतक से लेकर आईबीएन7, इंडिया न्यूज जैसे न्यूज चैनलों में कारपोरेट घरानों और नेताओं का पैसा लगा है.
इंडिया न्यूज तो परम कांग्रेसी विनोद शर्मा का न्यूज चैनल है जिसका एडिटर इन चीफ दीपक चौरसिया को बनाया गया है जो भाजपाई दलाल माना जाता है. दीपक चौरसिया की अपनी कोई नैतिकता नहीं. उसकी एकमात्र नैतिकता टीआरपी व पैसा है, जिसे किसी भी कीमत हासिल करना है. दीपक चौरसिया कारपोरेट घराने का पत्रकार है. लायजनिंग करने वाला पत्रकार हैं. तो, एक बड़ी साजिश हुई. एक बड़ी व्यूह रचना हुई. कांग्रेस, बीजेपी, कारपोरेट, मीडिया के काकटेल ने एक स्ट्रेटजी फाइनल की. इसे लीड करने का जिम्मा दीपक चौरसिया को दिया. पर दीपक चौरसिया आम आदमी पार्टी के खिलाफ कुत्सित अभियान चलाने को लेकर बदनाम हो चुके हैं, आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं का कोपभाजन भी बन चुके हैं (मोबाइल पर लगातार काल करके व मैसेज भेजकर दिमाग ठिकाने लगाने के गांधीगिरी अभियान के तहत), सो उन्होंने अपनी दो चार परसेंट बची खुची साख की मिट्टी पलीद कराने से तौबा किया और एक नया चेहरा मोहरा खोजा.
अंधे को अंधा मिल ही जाता है. शादी बियाह चैनल चला रहे अनुरंजन झा को दीपक चौरसिया ने धो-पोंछ कर निकाला और आगे कर दिया. जैसे आप पार्टी के जवाब में विरोधियों ने बाप पार्टी बनवा दी उसी तरह इंडिया न्यूज व दीपक चौरसिया ने खुद के नाम व चैनल से स्टिंग करने की जगह अनुरंजन झा और मीडिया सरकार को आगे कर दिया.
यहां थोड़ा मीडिया सरकार डाट काम का इतिहास भी बताना चाहूंगा. एक दौर था जब अनुरंजन झा भड़ास के आफिस आया करते थे. उनकी आदत जो ठहरी मित्रता में छुरा घोंपने की. उन्होंने ये पूछताछ कर देख सुन कर समझ लिया कि भड़ास जैसा पोर्टल बेहद कम संसाधनों में चल बढ़ पल सकता है. उन्होंने समाचार प्लस वाले उमेश कुमार का ब्रेन वाश किया और उनसे कई लाख निवेश कराकर मीडिया सरकार डाट काम लांच कर दिया. इस पोर्टल का फोकस मीडिया इंडस्ट्री के अंदरखाने की खबरों को प्रकाशित करने पर था. पर जैसा कि कहा जाता है कि नकल के लिए भी अकल चाहिए, सो मीडिया सरकार बेकार, घटिया, नीरस, पीआरबाज किस्म के कंटेंट के कारण दम तोड़ने लगा.
उधर उमेश कुमार को भी लग गया कि उनका पैसा डुबो दिया गया है और उनके पैसे के नाम पर किसी ने अपने छह दस महीने बेरोजगारी की बजाय एक नौकरी एक वेंचर करते हुए गुजार दिया और अपना नाम काम दाम बाजार में मेनटेन रखा. खैर, मीडिया सरकार डाट काम की दुकान जब बंद हो गई तो अनुरंजन फिर चैनल में गए. एस1 न्यूज चैनल से लेकर सीएनईबी न्यूज चैनल के मालिकों तक को ये शख्स धमका, ब्लैकमेल कर चुका है. खैर, बात चल रही थी आम आदमी पार्टी वालों के स्टिंग का. तो दीपक चौरसिया ने अनुरंजन को धो पोंछकर निकाला. मीडिया सरकार की बंद हो चुकी दुकान का शटर खोला गया. इंडिया न्यूज चैनल के संसाधन झोंक दिए गए. और इस तरह एक बड़ा स्टिंग करने का अभियान छेड़ दिया गया. लेकिन होता है न, जब आप खराब मंशा के साथ कोई काम करें तो आप को उसमें मुंहकी खानी पड़ती है. जब आपके मन में चोर हो तो आप भला कैसे जेनुइन मांगों को मान सकते हो. सो, अनुरंजन ने रॉ स्टिंग यानि बिना एडिटिंग के पूरा स्टिंग आप वालों को देने से इनकार कर दिया.
पहले तो स्टिंग में कुछ नहीं निकला. जब आप नेता बनते हैं तो आपसे मदद मांगने दर्जनों लोग आते हैं और तरह तरह के बैकग्राउंड से आते हैं. कई बार आप उन्हें कैजुवली निपटाने के लिए बोल देते हो कि चलो चुनाव बाद देखेंगे. कोई पैसे लेकर अपना शो करता है तो उसे पैसे देकर आप कहते हो कि देखो पैसे ले रहा है. पर इस बेदम स्टिंग को दमदार बनाने के लिए इसकी खूब एडिटिंग की गई. इतनी की गई कि लोग इसे बड़ा खुलासा मान सकें. दीपक चौरसिया और इंडिया न्यूज इस पूरे कुत्सित अभियान के पीछे मुख्य सूत्रधार थे, इसलिए ज्यों ही अनुरंजन झा ने पहले से तयशुदा स्क्रिप्ट के तहत स्टिंग के खुलासे का प्रेसकांफ्रेंस किया, इंडिया न्यूज ने लाइव दिखाना शुरू कर दिया. उधर प्रेस कांफ्रेंस खत्म होते ही इधर इंडिया न्यूज पर इसी मसल पर बहस के लिए, आम आदमी वालों को चोर साबित करने के लिए एक पैनल बिठा दिया गया और डिस्कशन शुरू कर दिया गया.
मतलब कि इंडिया न्यूज व दीपक चौरसिया को पता था कि पीसी में सब्जेक्ट क्या है और इस पीसी के खत्म होते ही इसी मुद्दे पर खेलना है क्योंकि यह मुद्दा ही उनके द्वारा सृजित है. सो इंडिया न्यूज पर इतने गंदे तरीके से अरविंद केजरीवाल, कुमार विश्वास, शाजिया आदि के बारे में कमेंट, टिकर, हेडिंग शुरू हो गए कि हर दर्शक को लगने लगा यह चैनल जानबूझ कर आम आदमी पार्टी के पीछे पड़ा हुआ है. अरे यार, आप थोड़े भी नैतिक होते, थोड़ा भी पत्रकारीय सोच समझ रखते तो अपने इस स्टिंग में दो बीजेपी प्रत्याशियों, दो कांग्रेस प्रत्याशिों को भी शामिल करते और तब कहते कि देखो, हमने तो हर पार्टी का स्टिंग किया क्योंकि हमारा मकसद देश सेवा व पत्रकारिता करना था. लेकिन आप जब एक घटिया मानसिकता के साथ कुत्सित एजेंडे पर काम कर रहे हैं तो आपका दिमाग भी कहां काम करेगा... लीजिए, देखिए आपके स्टिंग का सच... कितनी एडिटिंग की गई है.. और इतनी एडिटिंग के बाद अगर कुछ नहीं निकाल पाए, कुछ नहीं दिखा पाए तो ये बिना एडिटिंग वाले रॉ फुटेज सामने रख देंगे तो लोग तो सच्चाई जान जाएंगे कि बातचीत को एडिट कर उतना ही दिखाया गया है जिससे आम आदमी पार्टी के खिलाफ निगेटिव माहौल बना सकें..
स्टिंग का स्टिंग
SEE STING THROUGH and see what i have written!!!
TOTALLY FAKE VIDEO...tumse acchi editing to college wale bacche kar le!!
Sting(drama) ..SEE my points with timings..be logical..5th standard ki class wala bhi samjh jayega.(but koi nahi m samjha deta hu)

start at:-7:05(before this pura mahole bnaya hai congress+bjp) ne MITROO!!!BHAIOO BHENEO!!!
7:05 sting start at(before this pura mahole bnaya hai congress+bjp) ne MITROO!!!BHAIOO BHENEO!!!

#SHAZIA ILMI

8:04-1st editing
9:34-2nd editing(talking about donation of which type now?10-15 thousand for 4-5 people..2-3 thousand each)
9:34 to 11:15(repeat telecast..why??)
1:28-3rd editing
12:06-sabko de k dekh liya hai(reporter..thnku)
12:25 to 12:47-shazia saying causaily only thik hai thik hai!!and reporter is begging!!!
12:50:-13:12-only bakwasss
14:21-4th editing

#SIDDHARTH(SHAZIA)

14:35-14:39(voice hi nahi hai..samjh sakte hai!!)
15:10-5th editing(meanwhile media means the paper worker..poster worker,rented cars,diesel,petro etc. etc...and last time 9 LAKH sponsered..in WHITE--TILL NOW NOTHING IS WRONG!!MITROO..)
16:00-6th editing
16:03-7th editing
16:15 to 17:15-real facts and see how many expenditures!!!(but all are within limits of election comiision laws)
17:15-18:44-background music..just like movies wow..
18:44-they dont show the question??(why mitroo!!)
18:54-8th editing

#MANOJ

18:54-19:34-background me bjp walo ka dimag--muzik
19:50-manoj said ki apke sath hi hai..wt's wrong..sab aisa hi bolte hai..generally!!
20:45-20:51-manoj refused(and till now no one actually know ki baat kis bare me hai exactly...kitne hours ya kitne din bande ne convince kiya hai..kya story manoj ko batai hogi starting me jakar)
21:07-9th editing
21:15-reporter tried to bribe but manoj refuses
21:24-10th editing(till now about what the reporter is asking and what story he told earlier kuch nahi btaya gya??WHY???WHY???WHY???)

#DINESH

21:24 to 22:42-bakgroung muzikkkkk...bjp+congress ki bjate raho!!!
22:58-23:00-why suddenly report stops(interst...then aage to bolta???)(NO BAKGROUND STORY IS NARRATED BY REPORTER TILL NOW ON LIVE FOOTAGE)
23:18-see how frustatately dinesh said"arey bhai aapko apni taraf se jo thik lage wo karo"(i think bas reporter paka raha hoga dinesh ko..that's why dinesh is not interseted)
23:18-25:35-causual talks..dinesh can't be rude at this time to anyone-general fact
25:35-25:45-reporter try to intiate him(SAY BADMASHI BUT HE REFUSED).
25:45-26:13-how dinesh is trying to escape from him....and how he escaped ha ha thik thik..
26:05-reporter ne uksaya...but dinesh lossly said ...ha ha..thik hai thik hai
26:14-26:21-reporter ne fir UKSAYA(PAISE ..GADI GHODE..BJP KO DE JAKE BEWKOOF)...but dinesh ne kuch nahi bola...he is just trying to escape that's why he called someone at last!!!

#IRFAN

26:21-27:23--BAKGROUNG MUZIKKK
27:23-28:17--reporter ne UKSAYA(paisa ,gadi ,ghoda)..
28:17--but IRFAN said we wanna only MORAL SUPPORT!!!
28:24--11th editing
28:43--IRFAN friends said to "kuch sochna padega apke bare me" to NOIDA AND DELHI ME BHUT ANTAR AA JATA HAI!!!(JAGO INDIA JAGO)
28:44-28:54--see what irfan said..itna uksane k baad bhi..ki simple party hai hamari..bas aap logo ko btaiyega!!!
28:54-29:30BAKGROUND MUZIKK..(STORIES IS NOT TOLD IN LIVE FOOTAGE TILL NOW..may be irfan answering to some general questions!!!)
he said ki cash ka mamla hai..NOW SUPPOSE KI AGAR KISI AccHE/IMANDAR BANDE K RUPEE FASS JATE HAI KISI BADE POLITIcIAN YA AMBANI TYPE K YHA...TO WO KHA AAYEGA KISI IMANDAR POLITIcIAN K PASS HI NAH...AND WHAT WOULD THAT IMANDAR POLITIcIAN SHOULD SAY JUST BEFORE ELEcTION????JAGOOOOOOOOO!!!!)
29:44-12th editing
29:50--now he told ki cash ka mamla hai..ramkhaani khatam hone ko hai..aur ab reporter sahab chapter-1 p hai!!

#IRFAN AND HS FRIEND

30:13--BAKGROUND MUZIKKKK
30:25--REPORTER NE UKSAYA..but IRFAN said loosly HA ...HA...HA..no response!!!
31:24 to 33:08--BAKGROUND MUZIKKK
33:08-33:17--reporter talked about ladke first..and ladke/volunteer can be used during the time of election..what is the issue..when he used word BOUNcER..MUKESH ne KANDHE NAA ME HILA DIYE!!
33:33-13th editing
33:34-34:25--reporter told about the problem/cash..and MUKESH talked in a general sense..and after 4th if he became somehing then it's his responsibilty to solve the disputes..(he never said ki m tumhari favour lunga)
34:25-35:00--BAKGROUND MUZIKKKK
35:10-mukesh refuses
35:10-36:11--mukesh is tring to escape..reporter se picha chudwana chahta hai!!and reporter talked about rupees...HE TOTALLY REFUSES!!!!

#BHAWNA

36:11-36:50--BAKGROUND MUZIKK
36:55--BHAWNA TOTALLY REFUSES!!!AND TRY TO escape!!!
37:07--14th editing
37:08-37:15--BHAWNA totally irritated till now..bechara reporter se kuch nahi bna!!

#PRAKASH

37:15-37:53--bakground muzikk
37:53-38:19--promote kar rha hai ye to AAP ko
38:19-38:45--bakground muzikk
38:45--to sahi to bola...respect ki hai arvind ki ...but tumhe samjh nhi aayegi

#KUMAR VISHAVSH AND HIS P.A

38:45-41:00--bakground muzikkk
41:00-42:02-NOW WHAT IS WRONG IN THIS..check le rahe hai..wt's wrong..cash ki receipt de rahe hai..what is the problem???stupid reporter...lolzz
42:02--15th editing
42:14--16th editing
42:15-42:53--WHAT IS WRONG???
42:54--17th editing
42:55-43:20--KUMAR VISHVAS clearly said ki wo nahi dekhte ye sab
43:27-44:10--what's wrong in this to ask for buisness class ticket..economy class ticket..100% payement..arey wo uska decision hai ...aur bilkul 100% sahi hai!!

SO HOW THEY MAKE U FOOL IS..
1)story background me bjp+congress wale naarate karte hai..or AAP LEADERS k 1-2 words utha lete hai wo bhi useless hai.
2)AAP leader ko kam se kam 4-5 ghante irritate kiya hoga...then last m THIK HAI THIK HAI dikha rakha hai bas video me..
3)in 48:06 minute video editing+bakground muzikk is done around 33 times??(WHY?WHY?WHY?)

NOW LAST QUESTION THIS MEDIA SARKAR HAS NO lena-dena with politics..never had done any type of drama..then why this time and wo bhi with only aam aadmi party??why not they included 2 of AAP..2-3 of BJP ..and 2-3 of congress?
लेखक यशवंत सिंह भड़ास4मीडिया डाट काम के एडिटर हैं. उनसे संपर्क 9999330099 के जरिए किया जा सकता है.
Sabhar- Bhadas4media.com

बहुत घटिया पत्रकार निकला अनुरंजन झा, देखिए स्टिंग की सच्चाई... बहुत घटिया पत्रकार निकला अनुरंजन झा, देखिए स्टिंग की सच्चाई... Reviewed by Sushil Gangwar on November 23, 2013 Rating: 5

No comments