Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Saturday, 9 November 2013

जी न्यूज के पत्रकार की पत्नी ने दहेज प्रताड़ना का आरोप लगा कर मौत को गले लगाया

दिल्ली के मयूर विहार इलाके में दहेज ने एक बेटी की जान ले ली। ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर उसने मौत को गले लगा लिया लेकिन 45 पन्नों के अपने सुसाइड नोट में उसने खोल दी अपने बीते हर जुल्म की दास्तां। पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार के डीडीए फ्लैट में रहने वाली 28 साल मंजू की शादी मयूर विहार के पत्रकार मनोज विश्‍वकर्मा के साथ फरवरी 2012 में हुई थी।
आरोपी मनोज जी न्यूज में बड़े पद पर काम करता है लेकिन शादी के बाद से ही मनोज ने मंजू को दहेज़ के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।  अगर मंजू के घर वाले दहेज देने में असर्मथ रहते तो उसका नतीजा मंजू को ही भुगतना पड़ता था। पुलिस ने मंजू के कमरे से 45 पन्नों के सुसाइड नोट को बरामद कर लिया है जिसमे मंजू ने दहेज़ दानवों की करतूतों को बयां किया है।

मंजू मूल रूप से जबलपुर की रहने वाली थी लेकिन मंजू की पढाई लिखाई दिल्ली में हुई। मंजू ने इंजीनियरिंग की पढाई कर एक प्राइवेट कम्पनी में काम करना शुरू कर दिया था लेकिन शादी के बाद मंजू के पति को मंजू का काम करना नागवार गुजरा और मजबूरन मंजू को काम छोड़ना पड़ा। वहीं मंजू के परिवार का आरोप है की उसने आत्महत्या नहीं की बल्कि उसकी हत्या के गई है। मंजू का 45 पन्नों का सुसाइड नोट दहेज़ के दानवों की पोल खोलने और उसे सलाखों तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभा सकता है।
Sabhar- Bhadas4media.com

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90