Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

आम आदमी पार्टी अरविंद केजरीवाल की पूरी पोल पट्टी खुल गई


अरविंद केजरीवाल आज एबीपी न्यूज के कार्यक्रम थे. आम आदमी पार्टी अरविंद केजरीवाल की पूरी पोल पट्टी खुल गई. केजरीवाल से पूछे गए सवाल और जवाब के कुछ अंश.

एक सवाल यह पूछा गया कि बरली में जाकर आपने जिस मौलाना तौकीर रजा खान से समर्थन लिया है उस पर मुजफ्फरनगर में दंगा फैलाने का आरोप है और वो इस केस में गिरफ्तार भी हो चुके हैं. केजरीवाल का जवाब था.. मुझे यह पता नहीं है. यह तो हद ही हो गई. वोट बैंक के चक्कर आप ये भी भूल जाते हो कि किससे मिलने जा रहे हो... किससे मदद मांग रहे हैं.. ऐसे में तो आपको ये भी पता नहीं होगा कि कितने भ्रष्ट लोग आपकी पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं.

एक सवाल यह पूछा गया कि अर्थव्यवस्था और रोजगार वैगरह पर कोई आपकी पार्टी की कोई राय नहीं है.. तो इस पर जवाब था कि अभी हमारी पार्टी नई है.. हम सोच विचार कर रहे हैं.. वाह जी वाह... सत्ता में आ भी गए.. चुनाव के बाद स्पेशल सेशन कहां और कब बुलाना है वो भी तय कर लिया है लेकिन जनता के लिए सबसे महत्वपूर्ण रोजगार और आर्थिक नीति पर कोई राय ही नहीं है...

एक महिला ने सवाल किया कि आम आदमी पार्टी भी दूसरी पार्टियों की तरह टिकट देने में जाति धर्म सम्प्रदाय और क्षेत्रीय समीकरण का खेल खेल रही है.. तो केजरीवाल का जवाब था कि मुझे पता नहीं है... तब उस महिला ने कहा कि मेरे पास सबूत है क्योंकि मैं आम आदमी पार्टी की टिकट डिस्ट्रीब्यूशन को स्टडी किया है.. इसपर अरविंद केजरीवाल ने चुप्पी साध ली.

सबसे मजेदार बात यह है कि अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह मुख्यमंत्री के उम्मीदवार नहीं है. हद हो गई ... ये जब अपना सर्वे कराते हैं तो उसमें यह सवाल पूछते हैं कि क्या अरविंद केजरीवाल को दिल्ली का मुख्यमंत्री बनना चाहिए? और सारे पोस्टर पर मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री चिल्ला रहे हैं लेकिन अब ये कह रहे हैं कि वो मुख्यमंत्री के उम्मीदवार नहीं है तो क्या साजिया इल्मी या मनीष सिसोदिया मुख्यमंत्री बनेंगे और केजरीवाल प्रधानमंत्री की दौर में लग जाएगें?

सबसे अहम बात यह कि जिस व्यक्ति की विश्वसनीयता को भुना कर अरविंद केजरीवाल ने अपनी सत्ता के भूख को हवा दी है... जिस व्यक्ति की मेहनत पर वो लोगों से वोट लेना चाह रहे हैं... वह व्यक्ति ही आज आम आदमी पार्टी के खिलाफ है.. हमने चौथी दुनिया के लेख में इस बात का उल्लेख भी किया था.. अन्ना हजारे जी, अरविंद केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी के साथ नहीं है.
Facebook wall se sabhar lekar .. 

No comments:

Post a Comment