जवाब देने की नैतिक जिम्‍मेदारी पार्टी ने ली है


आम आदमी पार्टी पर जो सवाल उठे हैं, उनके जवाब देने की नैतिक जिम्‍मेदारी पार्टी ने ली है। अगर Anuranjan Jha की मंशा बहुत साफ होगी (और बेशक होगी), तो वे असंपादित रिकॉर्डिंग "आप" के वरिष्‍ठ साथियों को सौंप देंगे। पर मुझे कुछ बात खल रही है। इस पूरे मामले में मित्रता का अपहरण हुआ है। जैसा कि मैं जानता हूं और जैसा कि कवि Dr. Kumar Vishwas ने टीवी पर बताया भी है, वे और अनुरंजन अच्‍छे मित्र हैं। दोनों का एक दूसरे के घर आना-जाना भी रहा है। ऐसे में अगर अनुरंजन जी ने फोन पर कुमार से किसी के लिए कुछ फेवर लेना चाहा, तो कुमार का सहज विश्‍वास कर लेना स्‍वाभाविक है। पर इस विश्‍वास की ओट से जो आखेट किया गया है, वह मेरे लिए निजी तौर पर चिंता का विषय है। तमाम असहमतियों के बावजूद अनुरंजन और कुमार विश्‍वास दोनों ही मेरे मित्र हैं। ऐसे बहुत सारे मित्र हैं जो गाहे-बगाहे एक दूसरे की मदद करते रहते हैं। मौजूदा स्टिंग ने सबके बीच अविश्‍वास का धागा बांध दिया है।

[दूसरी बात... कि चंदा उगाही से लेकर चोरी-चकारी तक के मामले में Arvind Kejriwal की ही घेराबंदी क्‍यों हो रही है? क्‍या इसलिए कि अभिमन्‍यु की तरह वे राजनीति के चक्रव्‍यूह में घुस गये हैं?]

इस पूरे मामले को समग्रता में देखने की कोशिश होनी चाहिए। सीधे सीधे देखने पर वही निर्दोष नजर आता है, जिसका अपराध दरअसल सबसे अधिक संगीन होता है।
Sabhar- Avinash Das facebook wall. 
जवाब देने की नैतिक जिम्‍मेदारी पार्टी ने ली है  जवाब देने की नैतिक जिम्‍मेदारी पार्टी ने ली है Reviewed by Sushil Gangwar on November 21, 2013 Rating: 5

No comments