Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Saturday, 12 October 2013

वरिष्ठ टीवी पत्रकार विनोद कापड़ी 'मिस टनकपुर हाजिर हो' फीचर फिल्म बना रहे

वरिष्ठ टीवी पत्रकार विनोद कापड़ी जल्द ही एक फीचर फिल्म लेकर सामने आने वाले हैं,  फिल्म का टाइटल होगा 'मिस टनकपुर हाजिर हो'. ये एक ट्रेजडी से भरी कॉमेडी फिल्म है. विनोद के मुताबिक फिल्म एक सच्ची घटना पर आधारित है, जो कि सिस्टम के एक बड़े सच से पर्दा उठाएगी. फिल्म को राजधानी दिल्ली के नजदीक उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में 40 दिनों के अंदर शूट किया जाएगा.
करीब 15 महीने पहले विनोद कापड़ी ने अखबार में एक खबर पढ़ी... खबर चौंकाने वाली थी. कापड़ी के मुताबिक इस सच्ची घटना ने उन्हें फिल्म बनाने की प्रेरणा दी. कापड़ी के मुताबिक "इस खबर पर विदेशी कवरेज देखकर उनका ये विश्वास मजबूत हुआ कि विदेशी मीडिया भारत की दिक्कतों ओर खासियतों को अजूबा बनाने का मौका नहीं छोड़ता है. पर इस खुलासे में सचमुच कुछ ऐसा विचित्र था जिसकी अनदेखी मैं भी नहीं कर सका."

'इस खबर में हमारे पुलिस स्टेशन, अस्पताल, अदालतों और दूसरी जगह का जो सच दिखाया गया था उस पर आंखें मूंद लेना संभव नहीं था. दिलचस्प ये था कि ये अंधेर सरकार की आंखों के नीचे मची थी." कापड़ी फिल्म रिलीज़ होने से पहले ये सस्पेंस नहीं खोलना चाहते कि उनकी फिल्म में मिस टनकपुर कौन है. ऐसा करने के पीछे शायद इच्छा ये है कि दर्शक आखिर तक ये कयास लगाते रहे कि मिस टनकपुर कौन है, क्या ये एक लड़की है.. किसी दूसरे देश से आई राजकुमारी है, या वो फिर वो इंसान ही नहीं है बल्कि कुछ और है. पर कापड़ी का दावा है कि उनकी फिल्म व्यवस्था में घुन की तरह चिपक गए भ्रष्टाचार की पोल खोल देगी.

विनोद कपाड़ी अब तक 100 से ज्यादा डॉक्यूमेंट्री बना चुके हैं, जिसमें 13 दिसंबर संसद पर हमला और 26 नवंबर मुंबई अटैक खास हैं. कापड़ी के मुताबिक 'मिस टनकपुर हाज़िर हों' जैसी फिल्म बनाने का ये सबसे अच्छा समय है, क्योंकि भारतीय दर्शक अब एक अलग तरह का सिनेमा देखना पसंद करने लगे हैं. पिछले पांच-छह सालों में सिनेमा पूरी तरह बदल चुका है और व्यव्यसायिक तौर पर भी ये काफी सफल हो रही हैं. दर्शक लीक से हटकर बनी फिल्मों का स्वागत कर रहे हैं.
कापड़ी ने इस फिल्म में फिल्म जगत के मझे हुए कलाकारों को लिया है. कापड़ी के मुताबिक ओमपुरी, अनु कपूर, रवि किशन और संजय मिश्रा के अलावा कोई इस रोल पर खरा नहीं उतर सकता था. ऋषिता भट्ट और राहुल बग्गा भी इस फिल्म में हैं. कापड़ी के मुताबिक कहानी लिखते समय ही उनके दिमाग में पूरी स्टारकास्ट मौज़ूद थी.
प्रेस रिलीज

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90