देश में बहुत सारे बलात्कारी



तुम्हारे कपडे तो उघडने वाले हैं
डर तो लग रहा होगा अब
शर्म भी आ रही होगी
लेकिन तुम्हे क्या लेना देना शर्म से
तुम्हारी डिक्शनरी में ये सब कहाँ आता है
तुम ठहरे बड़े एक्टिविस्ट
बड़े बड़े अख़बारों में लिखने वाले
लेकिन डरे हुए तो लग रहे हो गुरु
पर क्या करोगे भाई
डर तो लगता ही है
एक्टिविस्ट ही सही
हो तो आदमी ही
लेकिन डरो मत
देश में बहुत सारे बलात्कारी
अभी भी खुले घूम रहे हैं
दामिनी आंदोलन तो बस नाटक था
कोई फर्क थोड़ी पड़ा है किसी पर
सब वैसे ही हैं अभी भी इस देश में
ऐसे ही रहेंगे
बहुत से बहुत कुछ दाग लग जायेंगे
तुम्हारे कपड़ों पर
और दाग तो अच्छे हैं न
टीवी पे बताया करते हैं एक ऐड में.
Aseem Trivedi facebook wall se sabhar lekar 
देश में बहुत सारे बलात्कारी देश में बहुत सारे बलात्कारी Reviewed by Sushil Gangwar on October 30, 2013 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads