'हिंदुस्तान' ने खबर छापी है कि मैंने अपने विरोधियों को धमकी दी है : कंवल भारती

Kanwal Bharti : 'हिंदुस्तान' ने खबर छापी है कि मैंने अपने विरोधियों को धमकी दी है. मैं 'हिंदुस्तान' का आभारी हूँ कि उसने मुझे अपनी गलती का अहसास कराया. दरअसल मैं खुद इस बात को लेकर दुखी हूँ कि मेरे जो मित्र कल तक मेरे साथ खड़े थे, आज वे मेरे इस कदर विरोधी हो गये हैं कि तीखी आलोचना के साथ-साथ तीखे व्यंग्य-बाण भी चला रहे हैं. वे मेरे संकट के साथी हैं, उनकी आलोचनाओं को मैं अपने लिए चुनौती समझता हूँ और शीघ्र ही यह साबित भी हो जायेगा कि मैं अपने आन्दोलन से जरा भी विचलित नहीं हुआ हूँ.
पर उन मित्रों का क्या करूँ जो अशालीन तरीके से और मेरे चेट बॉक्स में असंसदीय भाषा में बात करने लगे थे. क्या किसी विचारक या लेखक को राजनीति में आने का अधिकार नहीं है? मैंने कौन सा अलोकतांत्रिक और समाज-विरोधी काम कर दिया? ऐसे ही मित्रों को मैंने unfriend और block करने की बात कही थी. मैं अपने उन तमाम मित्रों से क्षमा चाहता हूँ, जिन्हें मेरे comment से तकलीफ हुई.
दलित चिंतक और साहित्यकार कंवल भारती के फेसबुक वॉल 
'हिंदुस्तान' ने खबर छापी है कि मैंने अपने विरोधियों को धमकी दी है : कंवल भारती 'हिंदुस्तान' ने खबर छापी है कि मैंने अपने विरोधियों को धमकी दी है : कंवल भारती Reviewed by Sushil Gangwar on October 13, 2013 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads