'इन पत्रकारों ने बाबा को बदनाम किया, अब इन्हें देखना है'

आसाराम समर्थक पुलिस थाने, जेल, कोर्ट परिसर एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर हाथ में ऑडियों एवं विडियो कैमरे लेकर घूम रहे थे। ये लगातार महत्वपूर्ण जानकारियां अहमदाबाद और दिल्ली आसाराम के निकटस्थों को भेज रहे थे। इन लोगों ने जोधपुर में आसाराम मामले की कवरेज कर रहे चैनल एवं समाचार पत्रों के पत्रकारों की फोटो भी फेसबुक पर आसाराम समर्थकों को भेजी जिसमें कहा गया कि इन पत्रकार लोगों ने बाबा को बदनाम किया, अब इन्हें देखना है।
जोधपुर पुलिस के डीसीपी अजय लाम्बा ने बताया कि जेल के बाहर हंगामा करने और पत्रकारों से मारपीट के मामले में 22 लोगों को हिरासत में लिया है। दो दिन पहले भी आसाराम समर्थकों ने एक चैनल के पत्रकार एवं स्टाफ से मारपीट कर ओबी वैन में तोड़फोड की थी। वहीं रविवार रात एवं आज दिन भर आसाराम के 14 समर्थक पत्रकार बनकर जासूसी करते हुए गिरफ्तार किए गए।

मालूम हो कि नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में जेल पहुंचे आसाराम बापू के समर्थक सोमवार को फिर गुंडागिर्दी पर उतर आए। आसाराम समर्थकों को जैसे ही उनके जेल जाने की सूचना मिली तो सैंकड़ों की तादाद में समर्थक जेल के बाहर एकत्रित हो गए और हंगामा करने लगे। उत्तेजित समर्थकों ने जेल में घुसने का प्रयास किया और वहां मौजूद मीडियाकर्मियों से आज फिर मारपीट की। दो समाचार चैनलों की ओबी वैन में तोड़फोड के साथ ही तीन कैमरा मैनों के हाथ से कैमरे छीन लिए। पत्रकारों के साथ करीब 15 मिनट तक मारपीट के बाद पहुंची पुलिस को लाठीचार्ज कर आसाराम समर्थकों को खदेड़ना पड़ा। (दैनिक जागरण)
'इन पत्रकारों ने बाबा को बदनाम किया, अब इन्हें देखना है' 'इन पत्रकारों ने बाबा को बदनाम किया, अब इन्हें देखना है' Reviewed by Sushil Gangwar on September 03, 2013 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads