गरीबी के नए आंकड़ों के बचाव


मुझे और मेरे जैसे गरीव लोगो को  डेल्ही और मुंबई में ५ और १२ रूपये खाना मिल जाये तो गरीव भूखे पेट  न सोये … मै डेल्ही और मुंबई दोनों जगह रहता हु मगर मुझे  ५ और १२ रूपये में खाना नसीव नहीं हुआ -- अगर डेल्ही  और मुंबई में ऐसी जगह है जहा सस्ता खाना मिलता है मै आज से ही खाना शुरू कर दुगा ।

एडिटर
सुशील गंगवार
साक्षात्कार डाट काम  
गरीबी के नए आंकड़ों के बचाव  गरीबी के नए आंकड़ों के बचाव Reviewed by Sushil Gangwar on July 25, 2013 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads