सहारा एनसीआर के प्रमुख राजेश कौशिक का निधन

राजेश कौशिक
पत्रकार बिरादरी के लिए बुरी खबर है. सहारा एनसीआर के प्रमुख राजेश कौशिक का निधन हो गया है. वे 20 मार्च से अस्पताल में मौत और जिंदगी से जूझ रहे थे. लेकिन डाक्टरों के प्रयास के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका. दरअसल  सहारा की एक पार्टी से घर लौटते वक्त उनकी कार दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी. उसके बाद से वे अस्पताल में थे. दुर्घटना में उनके सीने की हड्डियां टूट गयी थी और फेफड़ा भी क्षतिग्रस्त हो गया था. बुधवार की रात जब पूरी दुनिया होली के हुड़दंग की थकान मिटा रही थी, राजेश कौशिक का निधन हो गया. राजेश कौशिक युवा थे और कम समय में ही एक स्ट्रिंगर से चैनल हेड के पद तक पहुँचे थे.

पत्रकार स्वाति अर्जुन अपने एफबी वॉल पर लिखती हैं :
अभी-अभी सहारा में मेरे पूर्व बॉस राजेश कौशिक की अंत्येष्टी से लौटी हूं. मन बहुत भारी है, फिर भी काम करना है, ऑफिस में नॉर्मल रहने की ज़रुरत है, बच्चे के मासूम सवालों का जवाब देना है, समय पर दफ्तर पहुंच कर नौकरी बचानी है, सुबह-दोपहर-रात के खाने का इंतज़ाम करना है, मोबाईल फोन का बिल जमा करना है वरना वो कट जाएगा...वगैरह..वगैरह। हम कितनी भागम-भाग वाली ज़िंदगी जी रहे हैं, जो लोग हमारे दिल के इतने करीब हैं उनके जाने के बाद उन्हें खो देने के एहसास के साथ जीने का भी वक्त़ नहीं है, क्या कोई है जो मुझे इतनी सी मोहलत दे सके...ताकि मैं उनसे कह सकूं कि उनका जाना मेरे लिए एक बड़े भाई का जाना है !
विजन वर्ल्ड के एक्जीक्यूटिव एडिटर सरफराज़ सैफी एफबी वॉल पर लिखते हैं :
"Sahara tv NCR & UP k head our mere karibi dost Rajesh Kaushik ki death ho gai hai,accident k baad sai wo hospital mai addmit they.... abhi ek dost ka shara tv sai phone aaya uss nai bataya sunkar dukh hua... I am cmg delhi "
RIP- Rajesh Kaushik...jab ham reporting karte they uss waqt ki bahut si yaade taza ho gai, kai salo tak hamne reporting sath ki our kaam k sath bahut masti bhi ki... Patiyala house cout ki kai baatey hamesha yaad aati thi jab bhi milte they unn ko yaad karke haste they.....kuch waqt pehle meri baat hui thi...iss saal kuch bada kaam karna chata tha milkar rajesh.... !!!

sabhar-mediakhabar.com
सहारा एनसीआर के प्रमुख राजेश कौशिक का निधन सहारा एनसीआर के प्रमुख राजेश कौशिक का निधन Reviewed by Sushil Gangwar on March 28, 2013 Rating: 5

No comments