मर्दों वाली महिला कांग्रेस




सोशल साईट भी अपने आप में किसी वरदान से कम नहीं. जैसे मोबाइल आने के बाद आदमी का की लोकेशन और पता छुपाया जा सकता है. ऐसे सोशल नेटवर्किंग पे हों आप तो फिर अब पहचान भी छुपा सकने में कोई दिक्कत नहीं. खुद फेसबुक ने माना है कि उस के यहाँ हज़ारों फर्जी खाते भी हैं.

तकरीबन सभी सोशल साइटें कहती हैं कि भैया कोई फर्जी नाम से खाता न खोलना. मगर आदमी, औरत, संस्था छोड़ो पार्टियों के नाम तक से खाते खुले हैं. और जिन पार्टियों के नाम से खाते खुले हैं उन में कांग्रेस की एक शाखा, आल इंडिया महिला कांग्रेस शामिल है. उस पे फोटो भो सोनिया गाँधी का नहीं. किसी नई या पुरानी महिला कांग्रेस अध्यक्ष या किसी प्रियंका, अंबिका या रेणुका का भी नहीं. किसी और का ही है. हो सकता है ये बहन जी महिला कांग्रेस की कोई होने वाली अध्यक्ष हों. मगर खबर तो ये है कि इस महिला कांग्रेस के अभी तक कुल 133 'मित्र ' हैं और इन में से भी तकरीबन सौ पुरुष हैं. हाँ, पता दिल्ली का ही है.

आपको याद होगा कि बीजेपी.कॉम डोमेन खरीद लिया था कांग्रेस ने और बवाल मच गया था. तब भी की जब खुद अपना इंडियनयूथकांग्रेस.कॉम वो किसी से मुकदमा लड़ के वापिस ला पाई थी. भारतीयराष्ट्रीयकांग्रेस.कॉम डोमेन आज भी कांग्रेस के पास नहीं है. अब ऐसे में फेसबुक पे ये 'आल इंडिया महिला कांग्रेस' अर्जी है या फर्जी राम जाने. अब इसे कांग्रेस चलने देगी, खरीदेगी या इस के खिलाफ कोर्ट जाएगी ये भी खुदा जाने.

लगे हाथ एक जानकारी आपको और दे द्दें. पहचान छुपा सकने वाले सिर्फ मोबाइल फोन रखने वाले लोगों को ज़्यादातर बैंक कोई लोन नहीं देते. अब ऐसी महिला कांग्रेस को वोट देंगे या नहीं ये देखने की बात होगी.


जय हो !

Sabhar- journalistcommunity.com

मर्दों वाली महिला कांग्रेस मर्दों वाली महिला कांग्रेस Reviewed by Sushil Gangwar on September 19, 2012 Rating: 5

No comments