Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

यशवंत की जमानत याचिका खारिज, मुलायम से मिलेंगे पत्रकार

इंडिया टीवी के प्रबंध संपादक विनोद कापड़ी और उनकी पत्नी साक्षी जोशी की शिकायत पर उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा हिरासत में लिये गये वेब पत्रकार यशवंत सिंह को आज भी जमानत नहीं मिल सकी. गौतमबुद्धनगर के सत्र न्यायाधीश ने मामले पर सुनवाई करने के बाद जमानत यािचका खारिज कर दी. न्यायाधीश ने कहा है कि आरोपी पर आरोप गंभीर हैं इसलिए उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती. फिलहाल यशवंत सिंह 14 दिन की न्यायिक हिरासत में गाजियाबाद की जेल में बंद हैं.

भड़ास4मीडिया वेबसाइट के संचालक यशवंत सिंह को उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को नोएडा से गिरफ्तार किया था जब वे अपने एक मित्र के दफ्तर से मिलकर घर की ओर जा रहे थे. गिरफ्तार करने के बाद रविवार को पुलिस ने उन्हें गौतमबुद्धनगर के जिला सत्र न्यायाधीश के सामने प्रस्तुत किया था जिसके बाद उन्होंने जमानत याचिका पर नियमित सुनवाई के लिए सोमवार की तारीख मुकर्रर की थी. सोमवार को सुनवाई करते हुए न्यायाधीश ने दोनो पक्षों की जिरह सुनने के बाद यह कहते हुए जमानत याचिका खारिज कर दी कि आरोपी के खिलाफ गंभीर धाराएं लगाई गई हैं जिसमें जमानत नहीं दी जा सकती.

उधर दूसरी ओर यशवंत सिंह के पक्ष में उतरे पत्रकारों ने सीधे मुलायम सिंह यादव से मिलकर इस बारे में शिकायत करने का फैसला किया है कि किस तरह से प्रशासन द्वारा एक पत्रकार को परेशान किया जा रहा है.

इस बीच आज एक बार फिर हिन्दुस्तान अखबार ने इस संबंध में खबरनवीसी की है और बताया है कि यशवंत सिंह देर रात विनोद कापड़ी की पत्नी साक्षी जोशी को अश्लील एसएमएस कर रहे थे. अखबार ने इस एसएमएसबाजी का विवरण भी प्रकाशित किया है. पत्रकारों के एक बड़े वर्ग में चर्चा है कि हिन्दुस्तान अखबार इस मौके पर यशवंत सिंह से अपनी पुरानी खुन्नस निकाल रहा है और जानबूझकर इस मामले को तूल दे रहा है. हिन्दुस्तान अखबार पहले भी यशवंत सिंह के खिलाफ मानहानि का मुकदमा कर चुका है जिस पर मामला दिल्ली की एक स्थानीय अदालत में लंबित है.

हिन्दुस्तान या बड़े मीडिया घरानों को अलग कर दें तो भी यशवंत के मुद्दे पर मीडियाकर्मी दो हिस्सों में साफ बंटे नजर आ रहे है. एक वर्ग ऐसा है जो इस गिरफ्तारी का विरोध कर रहा है जबकि दूसरा वर्ग ऐसा है जो यशवंत सिंह की इस गिरफ्तारी के लिए उनकी काली करतूतों को जिम्मेदार बता रहा है.

No comments:

Post a Comment