Sakshatkar.com - Filmidata.com - Sakshatkar.org

साक्षात्कार बाद में लेना पहले मालिश करो ?

पत्रकारिता की दुनिया भी अजीव है दिल में बचपन से तमन्ना थी की बड़ा होके पत्रकार बनूगा खैर पत्रकारिता की असलियत अब समझ में आ रही है | फिल्म पत्रकारिता का अपना ही मजा है कभी कभी साक्षात्कार करने के बाद और पहले मालिश करने और करवाने का अवसर मिल जाता है अब ये आपके हाथ में ये मजा लेना चाहते है और नहीं ? बॉलीवुड में ऐसा चलन चल पड़ा है मैंने एक अदाकारा को फ़ोन किया और कहा की आपका एक साक्षात्कार करना चाहते है तो वह बोली एक काम करो मै घर का पता भेज रही हु आप आ जाये तो साक्षात्कार कर ले |

मै भी साक्षात्कार करने घर पहुच गया साक्षात्कार का सिलसिला शुरू हुआ तो वह अपने बारे में बताने लगी . मै मूर्खो की तरह लिखने लगा | अचानक वह रुक कर मेरे करीव में आयी बोली, आप मेरा हर हफ्ते साक्षात्कार छाप दिया करे ,आप जो चाहे वो मिलेगा | आखो के जरिये सीधी दावत मिल रही थी . मै थोडा सा झिझक कर बोला मै समझा नहीं ?

मेरा हाथ पकड़ कर बोली यार मुझे मालिश करवाना बहुत पसंद है क्या आपको ये सब पसंद है | मैंने अपना हाथ छुड़ा लिया बोला भाई मुझे नवाबी शौक पसंद नहीं है | वह बोली आप मेरी मालिश करो मै आपकी करुगी | हम लोग मिलकर काम करेगे . आप मेरा पी आर का काम ले लो | बाकी तो आप समझदार है | मै उसका हाथ छुड़ाकर चलता बना |

एडिटर
सुशील गंगवार

साक्षात्कार डाट काम

साक्षात्कार डाट काम सूचित करता है। अब उन ही खबरों को अपडेट किया जाएगा , जिस इवेंट , प्रेस कांफ्रेंस में खुद शरीक हो रहा हू । इसका संपादन एडिटर इन चीफ सुशील गंगवार के माध्यम से किया जाता है। अगर कोई ये कहकर इवेंट , प्रेस कॉन्फ्रेंस अटेंड करता है कि मै साक्षात्कार डाट कॉम या इससे जुडी कोई और न्यूज़ वेबसाइट के लिए काम करता हू और पैसे का लेनदेन करता है, तो इसकी जिम्मेदारी खुद की होगी। उसकी कोई न्यूज़ साक्षात्कार डाट कॉम पर नहीं लगायी जायेगी। ..
Sushil Gangwar