भड़ास ४ मीडिया की लत लग गयी है लत छुडाये नहीं छूटने वाली है | भड़ास बुक डाट .कॉम

भड़ास  4 मीडिया  डाट काम  चलते चलते 4 साल  हो चुके है  इसका असर लोगो में दिखाई देने लगा है भड़ास के पाठक ने लिखा है की भड़ास ४ मीडिया बिना पढ़े  नीद नहीं आती है मै भाई आपकी बात सहमत हु | सच यह है मुझे भी भड़ास ४ मीडिया की लत लग गयी है  लत छुडाये नहीं छूटने वाली है | भड़ास के पीछे यशवंत सिंह का बड़ा योगदान है चाहे कैसे भी करके भड़ास ४ मीडिया को मीडिया  को  अपनी जगह दिलवाई है |

 मै भड़ास से इस कदर प्रेरित हुआ की मैंने खुद ही भड़ास बुक डाट .कॉम शुरू कर दिया | मीडिया में सबसे ज्यादा प्रेरित तरुण तेजपाल और यशवंत सिंह   ने किया है   | अगर यह लोग मीडिया में नहीं होते तो मेरी  मीडिया में पहचान नहीं होती | कही न कही यह दोनों लोग मेरे मीडिया करियर के लिए  जिम्मेदार है | 

भड़ास ४ मीडिया के कंटेंट बहुत अच्छे है जो  दूसरी न्यूज़ साईट  से अलग है इसलिए भड़ास ४ मीडिया ने सभी न्यूज़ साईट को पीछे छोड़ दिया | हर सफल आदमी के पीछे एक महिला का हाथ होता है मुझे ऐसा लगता है  भड़ास ४ मीडिया की सफलता के पीछे यशवंत सिंह की धर्म पत्नी -  का हाथ हैजो उनके सुख दुःख में बराबर की भागीदार रही है 

सुशील गंगवार
भड़ास बुक डाट .कॉम 
मीडिया दलाल डाट .कॉम 
साक्षात्कार डाट .कॉम 

भड़ास ४ मीडिया की लत लग गयी है लत छुडाये नहीं छूटने वाली है | भड़ास बुक डाट .कॉम भड़ास ४ मीडिया की लत लग गयी है  लत छुडाये नहीं छूटने वाली है | भड़ास बुक डाट .कॉम Reviewed by Sushil Gangwar on May 14, 2012 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads