दो अरब रुपये दबा कर सिंगापुर भागा--



लखनऊ- लोगों को करीब दो सौ करोड़ का चूना लगाने वाले जिस जालसाज को आर्थिक अपराध शाखा [ईओडब्ल्यू] तलाश रही है, उसने अपने भाई के साथ सिंगापुर में ठिकाना बना लिया है। उसके बारे में अहम सुराग मिले हैं, लेकिन पुलिस के हाथ उनकी गर्दन तक नहीं पहुंच पा रहे। गोंडा के सौरभ मोहन श्रीवास्तव ने गोमतीनगर के विकास खंड में टेरा कैप इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी खोली थी। वह कंपनी का डायरेक्टर था। कंपनी की शाखाएं उत्तर प्रदेश के कोने-कोने में खोली गई थीं और वायदा कारोबार से लेकर शेयर बाजार तक में पैसा लगाकर लोगों को बड़ा मुनाफा दिया जा रहा था। अधिक धन कमाने के लालच में लोगों ने गाढ़ी कमाई कंपनी में लगा दी। शुरुआत में सौरभ ने लोगों को मुनाफा देकर लुभाया, जब रकम करीब 200 करोड़ रुपये हो गई तो उसने भागने की योजना बना ली।
 
जाने की जानकारी होने पर श्री प्रकाश मिश्र ने गोमतीनगर थाने में 17 जून 2008 को सौरभ व साथियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई थी। श्री मिन ने कंपनी में 19 लाख रुपये लगाए थे। रिपोर्ट दर्ज होने के चार दिन बाद 21 जून को सौरभ भारत से निकल भागा। पुलिस ने कुछ समय तक जांच की, लेकिन मामला दो करोड़ से ऊपर का सामने आने पर जांच ईओडब्ल्यू को दे दी गई। मामले की जांच कर रहे अधिकारी ने बताया कि शुरुआत में पता चला था कि सौरभ ने भागते समय हांगकांग व टोरंटो के एयर टिकट खरीदे थे। अभी उसकी लोकेशन सिंगापुर में मिल रही है। वह वहां अपने भाई के साथ रह रहा है। फिलहाल लोकेशन सिंगापुर में मिलने के बाद मामले की जांच कर रहे अधिकारी भी बेबस नजर आ रहे हैं।
Sabhar- Datelineindia.com
दो अरब रुपये दबा कर सिंगापुर भागा-- दो अरब रुपये दबा कर सिंगापुर भागा-- Reviewed by Sushil Gangwar on May 17, 2012 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads