Sakshatkar.com - Filmipr.com - Worldnewspr.com - Sakshatkar.org

एक्सप्रेस ने भेजा विनोद मेहता और ‘ओपन’ को मानहानि का नोटिस, मांगे 500 करोड़



अंग्रेजी की दो पत्रिकाओं ‘ओपन’ और ‘आउटलुक’ से अखबार इंडियन एक्सप्रेस की कानूनी लड़ाई शुरु हो गई है। एक्सप्रेस ने ओपन के अप्रैल अंक में छपे आउटलुक के एडिटोरियल चेयरमैन विनोद मेहता के इंटरव्यू के संबंध में दोनों को एक कानूनी नोटिस भेजा है। इस इंटरव्यू में मेहता ने सेना के मूवमेंट के बारे में खबर छापने को लेकर एक्सप्रेस की कड़ी आलोचना की है। नोटिस में मानहानि के हर्ज़ाने के तौर पर 500 करोड़ की मांग की गई है।
अंग्रेजी टैबलॉयड मेल टुडे ने जब इस बारे में एक्सप्रेस के संपादक शेखर गुप्ता से बातचीत करनी चाही तो उन्होंने टका सा जवाब दे दिया कि वो बात नहीं करेंगे। जब उनसे पूछा गया कि क्या विनोद मेहता का इंटरव्यू उन्हें बदनाम करने के लिए था, तो उनका जवाब था, मैं इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहता। आप हमारे लीगल डायरेक्टर से बात कर लीजिए।
विनोद मेहता ने नोटिस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वे इसका जवाब खुली बहस में देना चाहेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें लीगल नोटिस से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन इस तरह के मामलों को अदालत की बजाय टीवी पर बहस के जरिए निपटाए जाते तो बेहतर होता।
उधर इंडियन एक्सप्रेस की लीगल डायरेक्टर वैदेही ठक्कर ने कई बार फोन करने के बावजूद कोई जवाब नहीं दिया। वकील पूर्वी कमानी के जरिए भेजे इस नोटिस में कहा गया है कि ओपन मैगज़ीन ने विनोद मेहता क इंटरव्यू इंडियन एक्सप्रेस की छवि को खराब करने के लिए छापा है। नोटिस में कहा गया है कि 19 अप्रैल को छपे इस इंटरव्यू पर शेखर गुप्ता के सहकर्मी, पाठक और आम आदमी कई बार ध्यान  दिला चुके हैं।
नोटिस में दोनों को माफीनामा छापने के अलावा इंडियन एक्सप्रेस, शेखर गुप्ता और तीन अन्य पत्रकारों के अकाउंट में 100-100 करोड़ जमा करने की मांग की गई है। नोटिस के जरिए गुप्ता ने ओपन के अलावा आउटलुक पर भी हमला बोला है। उन्होंने संपादकों की जिम्मेदारी याद दिलाते हुए आउटलुक पर रतन टाटा की छवि खराब करने के भी आरोप लगाए हैं।
Sabhar- mediadarbar.com

No comments:

Post a Comment