Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Sunday, 29 April 2012

मरते दम तक मैं कहूंगी कि हिंदू हूं



दिनेश चंद्र मिश्र
‘किस तरह करूं फरियाद मैं, यकीन हो दुनिया को कि मैं हिंदू हूं, मैं होश में हूं, मैं जानती हूं, मेरा नाम रिंकल हैं, मैं हिंदू हूं, पढ़ाया गया कलमा वो सबको दिखता है, अब क्यों नहीं माना जा रहा मैं हिंदू हूं, मालूम है नहीं मिलेगा इंसाफ मुझे, मेरे खिलाफ सब हैं क्योंकि मैं हिंदू हूं, और क्यों मैं इस दुनिया को सबूत दूं, दुनिया को चीख-चीख कर कह रही हूं कि मैं हिंदू हूं, मेरा रब करेगा इंसाफ मुझसे, मैं मरते दम तक कहूंगी कि हिंदू हूं।’ यह पैगाम है रिंकल का। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मीरपुर मथेलो की रिंकल कुमारी का पिछले दिनों अपहरण किया गया था। उसका धर्म परिवर्तन कराकर उसे मुसलमान बनाया गया फि र 24 फरवरी को नावीद शाह नाम के एक मुस्लिम युवक से उसकी शादी करा दी गई। रिंकल को धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया गया। रिंकल मां-बाप के पास जाना चाहती है, मामला सुप्रीम कोर्ट में गया लेकिन अभी तक वहां से भी इंसाफ नहीं मिला है। सुप्रीम कोर्ट ने रिंकल को फिलहाल संरक्षण गृह भेज दिया है, इस मामले की फिर सुनवाई 18 अप्रैल को होनी है। संरक्षण गृह से रिंकल ने एक पैगाम अपनी मां और पाकिस्तान की हिंदू आवाम के नाम भेजा है। इस पैगाम को रिंकल की मां ने सोशल नेटवर्किंग साइट्ïस पर ‘कैनविज टाइम्स’ के साथ शेयर किया है। इस मामले की कोर्ट में सुनवाई के दौरान रिंकल ने रोते हुए कहा ‘हम मां के पास जाना चाहते हैं।’ लेकिन दूसरे पक्ष के वकील ने कहा लडक़ी ने कलमा पढ़ लिया है, अब वह हिंदू नहीं है। पाकिस्तान के नारी संरक्षण गृह दारुल अमीन जाने से जब रिंकल ने इंकार कर दिया तो पुलिस उसको घसीटते हुए ले गई। दारुल अमीन में रो-रोकर बेहाल रिंकल   ने उनसे मिलने गईं पाकिस्तान हिंदू काउंसिल की मंगला शर्मा के हाथों एक पैगाम भिजवाया। उस पैगाम में उसका दर्द, मजबूरी और पाकिस्तान में इंसाफ के हाल को बखूबी समझा जा सकता है।
रिंकल की दर्दभरी अपील के बाद पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं की आवाज उठाने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट पर एक अभियान छिड़ गया है। पाकिस्तान हिंदू वायस सहित कई पेज फेसबुक पर बने हैं, जहां रिंकल को न्याय दिलाने के लिए साथ में आवाज उठाने की गुजारिश की जा रही है।
पाकिस्तान में हिंदुओं की नाबालिग लड़कियों का अपहरण करके जबरन धर्मांतरण के बाद निकाह किया जाना आम बात हो गई है, लेकिन रिंकल की बहादुरी को देखकर इसके पहले ऐसे हादसे से गुजर चुकी कई महिलाएं भी अब अपना इंसाफ मांगने के सामने आने लगी हैं। पाकिस्तान में हिंदुओं के खिलाफ  अत्याचार की एक और घटना की शिकार लता तेजाब से झुलसे अपने चेहरे के साथ न्याय के लिए सामने आई है। घटना सिंध प्रांत के ग्रामीण इलाके की है जहां हिंदू समुदाय की एक नाबालिग लडक़ी लता की शादी जबरन एक मुसलमान युवक के साथ करा दी गई। लता ने बंदूक की नोक पर भी निकाह कबूल नहीं किया तो उसका चेहरा जला दिया गया। चेहरे पर तेजाब का घाव लेकर लता ने भी बुधवार को पाकिस्तान हिंदू काउंसिल के पदाधिकारियों से मुलाकात करके इंसाफ की गुहार लगाई है। पाकिस्तान सरकार हिंदुओं के साथ हो रही जुल्म-ज्यादती की घटनाओं पर चुप्पी   साधे है।
इसको लेकर भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ई-मेल भेजकर गुहार लगाई गई थी, लेकिन पाक राष्टï्रपति जरदारी के दौरे के दौरान मनमोहन सिंह की चुप्पी से पाकिस्तान के हिंदू मर्माहत हैं। पाकिस्तान हिंदू काउंसिल के पदाधिकारियों ने इस मामले में विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों के साथ सांसद योगी आदित्यनाथ से भी सम्पर्क साधा है ताकि भारत की संसद में पाकिस्तान के हिंदुओं के साथ हो रही जुल्म-ज्यादती की कहानी वह अंतरराष्टï्रीय मंच पर उठा सके।

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90