सहारनपुर में ईटीवी के पत्रकार पर हमला, गंभीर चोटें आईं


दोनों पक्षों ने दर्ज कराया मुकदमा : सहारनपुर से खबर है कि ईटीवी के रिपोर्टर रजनीश द‍ीक्षित से दबंग ट्रांसपोर्टरों ने मारपीट तथा गाली ग्‍लौज की. रजनी‍श किसी तरह भागकर अपनी जान बचाए. पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है. इससे वहां के पत्रकारों में रोष है. हालांकि कुछ पत्रकारों ने निजी खुन्‍नस में रजनीश पर अवैध वसूली करने का झूठा आरोप भी मढ़ दिया था, जो कई लोगों से बातचीत में गलत पाया गया.
बताया जा रहा है कि रजनीश बुधवार की रात अपनी बाइक से घर लौट रहे थे, इतने में घर के पास ही एक फोन आ गया, जिस पर वह बाइक सड़क पर ही रोककर बात करने लगे. इतने में पास में ही रहने वाले ट्रांसपोर्टर बिट्टू सरदार और उनका भतीजा अपनी कार से कहीं जाने के लिए निकले. वो अपनी कार का हार्न दिया, जिस पर रजनीश ने उन्‍हें बात करते हुए ही रुकने का इशारा किया. इतने में कार में बैठा एक शख्‍स उतरा और धक्‍का देते हुए मोटरसाकिल किनारे हटाने को कहा. रजनीश ने मोबाइल बंद करते हुए इस तरह बदतमीजी करने का विरोध किया तो कार में बैठा बिट्टू सरदार भी बाहर निकल आया तथा गालियां देने लगा.
रजनीश ने विरोध किया तथा 100 नम्‍बर डायल कर पुलिस को बुलानी चाही तो उनका मोबाइल छिनते हुए दोनों उनपर टूट पड़े उन्‍हें बुरी तरह मारा पीटा. रजनीश को आंख, चेहरे और कई जगहों पर गंभीर चोटें आई हैं. इन दोनों ट्रांसपोर्टरों की गिनती सहारनपुर के दबंगों में की जाती है. बताया जा रहा है कि सेल्‍स एवं अन्‍य गड़बडि़या करने वाले इन ट्रांसपोर्टरों के खिलाफ शायद रजनीश ने खबर चलाई थी, इसके चलते ही वे इनसे काफी समय से खार खाए हुए थे और मौका मिलते ही रजनीश पर हमला बोल दिया. आरोप है कि ये अपने अच्‍छे-बुरे कामों के लिए इनलोगों ने पुलिस तथा कई सफेशपोश नेताओं को महीना भी बांध रखा है.
खैर, रजनीश किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई तथा इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने रजनीश की तहरीर तथा पत्रकारों के दबाव में मुकदमा दर्ज कर लिया. इसके बाद आरोप पक्ष रजनीश पर समझौता करने का दबाव बनाने लगा. बताया जा रहा है कि वे लोग समझौते के लिए पैसे देने को भी तैयार थे, परन्‍तु रजनीश ने समझौता नहीं किया. बाद में ट्रांसपोर्टर भी कुछ सफेदपोशों से दबाव बनवाकर रजनीश के खिलाफ क्रास एफआईआर दर्ज करा दिया. एसपी ने रजनीश की चोटें देखने के बाद पुलिस को आरोपियों की गिरफ्तारी का निर्देश दिया है. आरोपियों के घरों पर पुलिस ने छापेमारी की परन्‍तु वो फरार बताए जा रहे हैं. वैसे बताया जा रहा है कि ट्रांसपोर्टरों से महीना लेने वाली स्‍थानीय पुलिस की भूमिका भी संदिग्‍ध है. हालांकि इस घटना से पत्रकारों में रोष है तथा वे जल्‍द से जल्‍द दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं
Sabhar:- Bhadas4media.com
सहारनपुर में ईटीवी के पत्रकार पर हमला, गंभीर चोटें आईं सहारनपुर में ईटीवी के पत्रकार पर हमला, गंभीर चोटें आईं Reviewed by Sushil Gangwar on January 05, 2012 Rating: 5

No comments

Post AD

home ads