शैलेंद्र मणि के झटके से निपटने को जागरण तैयार, कई के इंटरव्‍यू होने की खबर


गोरखपुर में शैलेंद्र मणि त्रिपाठी के दैनिक जागरण से इस्‍तीफा देने के बाद जागरण संभावित खतरों से निपटने के लिए रणनीति तैयार कर रहा है. खबर है कि शैलेंद्र मणि के तेवरों को देखते हुए जागरण प्रबंधन भी मान चुका है कि कई लोग अखबार का साथ छोड़ सकते हैं. इसलिए जागरण प्रबंधन भी अंदरखाने डैमेज कंट्रोल को लेकर अपनी रणनीति तैयार कर रहा है. अंदर ही अंदर कई लोगों के इंटरव्‍यू भी लिए जा चुके हैं.
दो दिन पहले जागरण प्रबंधन की मीटिंग में सारी संभावनाओं पर विचार किया गया है. संभावित खतरे से निपटने के लिए पूरी प्‍लानिंग तैयार कर ली गई है. खबर है कि जागरण प्रबंधन अपनी सारी कवायद सात जनवरी के बाद करेगा क्‍योंकि माना जा रहा है कि सारा परिदृश्‍य सात को सेलरी आने के बाद ही स्‍पष्‍ट होगी. दूसरी तरफ खबर है कि कई शैलेंद्र मणि त्रिपाठी के कई नजदीकी जनसंदेश टाइम्‍स जाने को तैयार बैठे हुए हैं. उन्‍हें भी बस सेलरी आने का इंतजार है.
दोनों अखबारों से जुड़े सूत्रों का कहना है कि यह लगभग साफ हो चुका है कि कौन-कौन लोग जनसंदेश टाइम्‍स जा सकते हैं. जागरण से जाने वाले जिन नामों को लेकर अटकलें और चर्चाएं चल रही हैं उसमें विजय उपाध्‍याय, अशोक चौधरी, जितेंद्र मिश्रा, संजय मिश्रा, मयंक श्रीवास्‍तव, अभिषेक सिंह, अनुराग तिवारी, घनश्‍याम चतुर्वेदी, शैलेंद्र शुक्‍ला, अभिनव चतुर्वेदी हैं. हालांकि इनमें से कौन जाएगा और कौन नहीं जाएगा यह स्थिति सात को सेलरी आने के बाद ही स्‍पष्‍ट हो पाएगी.
सूत्रों का कहना है कि जनसंदेश टाइम्‍स के लांचिंग की तिथि 15 जनवरी फाइनल कर दी गई है. इस अखबार की प्रिंटिंग सहारा के प्रेस से होगी. जागरण कार्यालय के पास स्थित गोकुल अतिथि भवन में जनसंदेश टाइम्‍स का आफिस बनाए जाने की तैयारी हो चुकी है. वैसे शैलेंद्र मणि ने जिलों में जागरण को झटका देने की पूरी कर रखी है. जागरण के तमाम प्रयासों के बाद भी जिलों में तत्‍काल डैमेज कंट्रोल कर पाना कितना आसान या मुश्किल होगा यह यह अनुमान लगा पाना अभी संभव नहीं है
Sabhar:-Bhadas4media.com
शैलेंद्र मणि के झटके से निपटने को जागरण तैयार, कई के इंटरव्‍यू होने की खबर शैलेंद्र मणि के झटके से निपटने को जागरण तैयार, कई के इंटरव्‍यू होने की खबर Reviewed by Sushil Gangwar on January 03, 2012 Rating: 5

No comments