चैट के जरिये बहुत से ब्लेकमेलिंग


चैट के जरिये बहुत से ब्लेकमेलिंग,लड़कियों के नाम से फर्जी आईडीयों की भरमार




- अरविन्द सिसोदिया 
फेसबुक पर लडकियों की आई डी बना कर छात्रों ने अपने ही टीचर से चैट किया, बात खुलने पर उन्हें मुर्गा बना दिया गया ...चैट के जरिये बहुत से ब्लेक  मेलिंग, अपराध और धोकाधडी की सूचना तो आये दिन का काम है | झूठ का एक बड़ा साम्राज्य चैट की दुनिया में है..इस लिए ज्यादा भावुक नहीं होना चाहिए बल्कि सावधान ही रहना चाहिए..लड़कियों के नाम से फर्जी आईडीयों की भरमार है , जरुरी नही की पुरुष के नाम भी सही हो ..,इस तरह की बड़ी बड़ी गडबडियों के कारण  ही सावधानी जरुरी है ...

----------------
चैटिंग
http://infosecawareness.in
त्वरित संदेश क्या है?
त्वरित संदेश (आईएम) एक वास्तविक समय पर, दो या दो से अधिक, नेटवर्क- जैसे इंटरनेट, पर जुड़े लोगों के बीच किया गया पाठ्य आधारित सम्पर्क है। त्वरित संदेश बहुत लोकप्रिय हो गया है, इससे आप एक वास्तविक समय परिवेश में लोगों के साथ बातचीत कर सकते हैं एवं आप अपने संपर्क सूची पर परिवार एवं दोस्तों की सूची रख सकते हैं एवं उस समय तक संवाद कर सकते हैं जब तक व्यक्ति ऑनलाइन है।

या
इंटरनेट चैट एक ऐसा तरीका है जिसके द्वारा आप लोगों से सीधी बात कर सकते हैं, पाठ संदेश के माध्यम से जो तुरंत दूसरी ओर पर ऑनलाइन व्यक्ति के द्वारा देखा जा सकता है एवं ऑनलाइन चैट "रूम" प्रयोग करने वाले सम्पर्क सूची/दोस्त/परिवार द्वारा भेजे गए संदेश भी देखे जा सकते हैं। यह एक मित्रवत गतिविधि है, एवं यह बहुत लोकप्रिय है, इस सेवा के अधिकतर युवा पीढ़ी के द्वारा प्रयोग में लाई जाती है, अपने दोस्तों के साथ बात करने के लिए एवं मिलने के लिए एवं सम्बन्ध स्थापित करने के लिए।

एसएमएस आधारित पाठ्य संदेश:
पाठ्य संदेश, जो "टेक्स्टिंग" के रूप में भी जाना जाता है, संक्षिप्त लिखित संदेशों एवं सेलुलर नेटवर्क पर मोबाइल फोन के बीच हुए आदान-प्रदान का संदर्भ रखता है। संदेश में चित्र, वीडियो, एवं ध्वनि सामग्री (एमएमएस संदेशों के रूप में जाना जाता है) समाविष्ट हो सकते हैं। व्यक्तिगत संदेश "पाठ्य संदेश" या "पाठ्य" का संदर्भ रखता है। व्यक्ति से व्यक्ति को संदेश भेजना सेवा का सर्वाधिक सामान्य प्रयोग है।

सामान्यत: प्रयोग में लाई जाने वाली चैट अनुप्रयोग:

एसकाइप एक एसा सॉफ्टवेयर अनुप्रयोग है जो उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट पर वॉइस एवं कॉल्स करने की अनुमति देता है।



याहू! मैसेंजर नि: शुल्क प्रदान किया जाता है एवं सामान्यत: किसी याहू! आईडी के साथ प्रयोग एवं डाउनलोड किया जा सकता है, जो याहू! की अन्य सेवाएँ, जैसे याहू! मेल के उपयोग की भी अनुमति देता है, जहाँ उपयोगकर्ताओं को नए ईमेल प्राप्त होने पर स्वचालित रूप से अधिसूचित किया जा सकता है। याहू! - पीसी-पीसी, पीसी-फोन एवं फोन से पीसी सेवा, फ़ाइल स्थानांतरण, वेबकैम होस्टिंग, पाठ्य संदेश सेवा, एवं चैट रूम जैसी सेवाएँ विभिन्न श्रेणियों में उपलब्ध कराता है।



यह एक त्वरित संदेशन एवं इंटरनेट प्रोटोकॉल पर वाणी का एक मुक्त विन्डोज़ एवं मैक इंटरनेट-आधारित अनुप्रयोग है। गूगल वार्ता (टॉक) पर एक ऑफ़लाइन संदेशन सुविधा भी है। यह उपयोगकर्ताओं को अपने संपर्कों को संदेश भेजने के लिए अनुमति देता है, भले ही वे साइन्ड इन न हों। वे जब भी अगली बार ऑनलाइन होंगे उन्हें संदेश प्राप्त होगा भले ही भेजने वाला उपयोगकर्ता ऑफलाइन हो।

इंटरनेट रिले चैट एक पाठ्य आधारित चैट प्रणाली है जो कि दुनिया भर के करोड़ों लोगों को वास्तविक समय में बातचीत(चैट) करने की अनुमति देता है। यह वास्तविक समय पर इंटरनेट पाठ्य संदेश (चैट) या सिंक्रोनस कॉन्फ्रेंसिंग का एक रूप है। यह मुख्य रूप से चैनल्स कहलाने वाले चर्चा मंचों पर समूह संचार के लिए बनाया गया है।



यह सबसे लोकप्रिय चैट अनुप्रयोगों में से एक है, इसमें ईमेल सेवा भी समाविष्ट है।

यह एक त्वरित संदेशन कार्यक्रम है जो याहू मैसेन्जर सहित विविध आईएम सेवाओं, आईएएम, आईसीक्यू, माईस्पेसआईएम, फ़ेसबुक चैट जैसी सेवाओं को समर्थन देता है, यह स्वतंत्र एवं मुक्त स्रोत पुस्तकालय लिबपर्पल पर आधारित है, जो कि पिडगिन के सॉफ्टवेयर डेवलपर्स द्वारा निर्मित है।


कुछ एवं चैट अनुप्रयोग जैसे आईसीक्यू, पालटॉक, कैम्पफायर, विंडोज लाइव मैसेंजर भी विद्यमान हैं।
इंस्टेंट संदेशवाहक की विशेषताएँ
त्वरित पाठ्य संदेश
वेबकैम के उपयोग से वीडियो चैट
वॉयस चैट
फ़ाइलों को बाँटना
एक ही स्क्रीन में चैट एवं दोस्तों की सूची
मित्र बढ़ाना एवं उनका प्रबंधन
हाल ही में की गई चैट की हिस्ट्री
ऑफ़लाइन संदेश भेजना/ प्राप्त करना
बहुभाषी
बहुवादी वीडियो चैट एवं वीडियो संदेशन
कुछ चैट अनुप्रयोगों को स्थापना की आवश्यकता नहीं होती, हम सीधे ब्राउज़र के माध्यम से साइट तक पहुँचकर चैट कर सकते हैं |
चैट रूम के प्रकार
चैट सार्वजनिक चैट रूम में, जो सब के लिए खुला हो, या निजी रूम में जहां समुदाय के कुछ लोग ही प्रवेश कर सकते हैं, की जा सकती है।

आम चैट रूम निम्नानुसार हैं
बिज़नेस चैट रूम
एकल चैट रूम
अजनबी चैट रूम
रोमांस चैट रूम
मानव हित चैट रूम
परिवार चैट रूम
राजनीतिक चैट रूम
त्वरित संदेशन अनुप्रयोगों में एवं कई अधिक चैट रूम उपलब्ध आवेदन होते हैं।

चैटिंग अनुप्रयोगों का उपयोग करने में जोखिम एवं खतरे
यद्यपि त्वरित संदेशन कई लाभ देता है, परंतु साथ ही कुछ जोखिम एवं जिम्मेदारियों का भी वहन करता है।

सुरक्षा जोखिम
फ़िशिंग प्रयासों, पायज़न यूआरएल एवं वायरस से लदी फ़ाइलों को संलग्न करने के लिए क्रैकर्ज़ (दुर्भावनापूर्ण "हैकर" या ब्लैकहैट हैकर) ने लगातार आईएम नेटवर्क का उपयोग वेक्टर्स के रूप में, किया है। उदाहरणत: आईएम स्पायवेयर, वायरस, ट्रोजन्स एवं वर्म्स के साथ कंप्यूटर को संक्रमित करता था।

जोखिम कम्प्लाइअन्स
दुर्भावनापूर्ण कोड खतरे के साथ-साथ, काम पर त्वरित संदेशन का प्रयोग भी कानून एवं व्यवसायों में इलेक्ट्रॉनिक संचार के उपयोग का प्रबंधन करने के लिए, नियमों के अनुसार पालन न करने का खतरा पैदा करता है।

अनुचित उपयोग
सभी प्रकार के संगठनों को अपने कर्मचारियों द्वारा के आईएम अनुचित उपयोग की जिम्मेदारी से अपनी रक्षा करना चाहिए। त्वरित संदेशन की अविधिवत, तत्काल, एवं प्रकट तौर पर अस्पष्ट प्रकृति इसे कार्यस्थल में दुरुपयोग के लिए एक अभ्यर्थी बनाता है।

उदाहरण:
जोखिम: ऑनलाइन अजनबी
साइबर अपराधी या अजनबी अपनी पहचान झूठे नाम एवं उम्र के माध्यम से छिपाते हैं। यहां तक कि बड़े लोग भी बच्चे/ किशोरी होने का बहाना कर सकते हैं।
 एक ऑनलाइन दोस्त चुनने से पूर्व पूर्ण सावधानी रखें. प्रयत्न करें कि जिसे आप ऑनलाइन मिल रहे हैं उसे अपनी सभी व्यक्तिगत जानकारी प्रकट न करें। अपने लिए उपनाम (निक नाम) का प्रयोग करें एवं अजनबियों से अपनी व्यक्तिगत जानकारी छिपाएँ।

जोखिम: व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा करना
जब बच्चे अपने दोस्तों या अन्य व्यक्ति के साथ चैट कर रहे हों, कभी कभी अपनी निजी या व्यक्तिगत जानकारी जैसे अपना नाम, विद्यालय का पता, घर का पता चैट, एवं फोन नंबर, पाठ्य संदेशों के माध्यम से बाँट सकते हैं। जो जानकारी वे बाँटते हैं वे अन्य लोग जो ऑनलाइन हैं देख सकते हैं एवं कई बार यह गलत पते पर भेजी जा सकती है। जो लोग यह जानकारी प्राप्त करते हैं वह इसका दुरुपयोग कर सकते हैं।

 अपना पूर्ण समय लें एवं यह सुनिश्चित करें कि आप इसे सही पते पर भेज रहे हैं। यह भी जाँच लें कि आप उसी सही व्यक्ति से बातें कर रहे हैं, जो उस विवरण का उपयोग करने के लिए जिम्मेदार हो।

जोखिम: स्पिम
स्पिम (आईएम पर स्पैम) एवं कुछ नहीं, बल्कि त्वरित संदेशन के माध्यम से किया गया एक स्पैम ही है। यह अजनबियों द्वारा समय समय पर पोस्ट किया जा सकता है, जिसमें विज्ञापन या वेब लिंक्स समाविष्ट हो सकते हैं। इन लिंक्स में दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर, वायरस एवं वर्म्स हो सकते हैं।

 स्पिम संदेश न खोलें क्येंकि यह आपके पीसी में दुर्भावनापूर्ण कोड डाल सकता है। सदैव अद्यतन आईएम एवं फायरवॉल संस्करणों का उपयोग करें। लिंक पर क्लिक करने से पूर्व सचेत रहें, क्योंकि इसमें स्पायवेयर या दुर्भावनापूर्ण कोड सम्मिलित हो सकते हैं।

जोखिम: ऑनलाइन प्रिडेटर्स
ऑनलाइन प्रिडेटर्स अनुभवहीन लोगों, युवा या बच्चों के साथ ऑनलाइन संबंधों के निर्माण का लाभ उठाते हैं। वे बच्चों को अपनी व्यक्तिगत जानकारी प्रदान करने के लिए समझाने का प्रयास करते हैं। बच्चों को लगता है कि वे प्रिडेटर्स के खतरों से परिचित हैं, परंतु वास्तविकता में, वे ऑनलाइन संबंधों के विषय में अत्यन्त अनुभवहीन हैं।

 आपको यह ज्ञात होना चाहिए की उन्हें अपने बारे में नेट पर जानकारी नहीं देना चाहिए। कभी भी आईएम में अजनबियों की कोई फाइल न खोलें, स्वीकार या डाउनलोड न करें एवं आमने सामने भेंटें भी सेट न करें।

------------------------

चैटिंग में चीटिंग!

http://chauraha1.blogspot.com
गाजियाबाद निवासी शबनम मल्टीनेशनल कंपनी में काम करती है। पिछले कुछ दिनों से वह खासी परेशान थी। उसने बताया, 'मेरे साथ बड़ा धोखा हुआ है। दरअसल मैं अकसर किसी न किसी चैटरूम में दोस्तों की तलाश में लगी रहती हूं। एक दिन जयपुर के एक तथाकथित 25 वर्षीय युवक महेंद्र ने मुझे संदेश भेजा, 'मुझसे दोस्ती करोगी?' इसके बाद हमारे बीच संदेशों के आदान-प्रदान का सिलसिला शुरू हो गया। आखिरकार उस महेंद्र का जो अंतिम मैसेज आया, वह चौंकाने वाला था, 'मैं दरअसल 67 साल का बुजुर्ग हूं। मेरे घर में पत्नी, बेटे-बहू और पोते सब हैं। मैं तो समय गुजारने के लिए तुमसे बातें करता था।'
यह एकदम सही है कि ज्ञान का भंडार कहे जाने वाले इंटरनेट का इस्तेमाल न सिर्फकठिन है, बल्कि कई बार 'यूजर' को धोखाधड़ी का सामना भी करना पड़ता है। चैटिंग में तो ऐसा अकसर होता है। पिछले दिनों 'ऑरकुट' तथा ऐसी ही कुछ अन्य सोशल नेटवर्किग वेबसाइट्स को लेकर खासा हंगामा मचा था, जिनके अंतर्गत देह व्यापार में कुछ युवतियों के नाम डिस्प्ले किए गए थे। आप धोखा न खाएं, इसके लिए इन बातों का खयाल रखें :
1. चैटिंग करते समय कभी भी पर्सनल या ऑफिशियल आईडी का उपयोग न करें।
2. चैट रूम में व्यक्तिगत जानकारियां देने से बचें। पता व फोन नंबर भूलकर भी न दें।
3. किसी से भी आपत्तिजनक बातचीत न करें।
4. रेडिफ, एमएसएन और याहू के अलावा, फ्रेंड तथा सोशल नेटवर्क व प्रोफाइल के जरिए भी कई लोग संपर्क साधते हैं, उनसे बातचीत न करें। चूंकि चैटरूम पासवर्ड प्रोटेक्टेड होते हैं, इसलिए चीटिंग करने वाले बेफिक्र होते हैं कि कोई उनके बारे में नहीं जान पाएगा। इसी तरह साइबर अपराधों के मामले में कानूनी व्याख्या तो हो गई है, लेकिन इनसे आम लोग परिचित नहीं हैं। ऐसे में सतर्कता ही आपका बचाव है। यदि आपके पास धोखाधड़ी करने वाले व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी हो, तो पुलिस को सूचित करें।
चैटरूम में ऑनलाइन पार्टनर या ट्रेडिंग के विकल्प न तलाशें। यहां आपके साथ कभी भी धोखाधड़ी हो सकती है। कोई आपका अकाउंट या क्रेडिट कार्ड नंबर जानकर उसका दुरुपयोग कर सकता है। नाइजीरिया की कुछ कंपनियां अकसर लोगों को लुभावने ई-मेल भेजती हैं। इनमें कुछ उत्पादों की बिक्री करने तथा उनके बदले में भुगतान का प्रस्ताव होता है। यही नहीं, कुछ दिन में आपके पास अग्रिम पेमेंट के रूप में चेक भी आ जाता है। चेक क्लियर होने में तो बीस दिन से तीन माह तक का समय लगता है और बाद में 100 फीसदी मामलों में चेक या तो बाउंस हो जाता है, या फिर नकली निकलता है। लेन-देन के समय दूसरी पार्टी की पहचान सुनिश्चित कर लें। वेबसाइट से ़खरीदारी करते समय आपके क्रेडिट कार्ड का नंबर तथा पता व ई-मेल एड्रेस में सतर्कता रखें। ऐसी हालत में 'प्राइवेसी पॉलिसी' पढ़ लें, ताकि आपकी जानकारियां और लोगों तक न भेज दी जाएं। उसी वेबसाइट पर कारोबार करें, जिनमें 'लॉक आइकन' बना हो, क्योंकि ये साइट जाली नहीं होतीं, न ही इन्हें 'हैक' किया जा सकता है। इंटरनेट पर की गई खरीदारी का लिखित ब्योरा भी जरूर रखें, ताकि आपके पास प्रमाण रहें। क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते समय 'वेरीसाइन' सरीखे अधिकृत पेमेंट गेटवे का ही चयन करें। इस तरह आपके कार्ड की गोपनीयता और रकम, दोनों सुरक्षित रहेंगी।
और अंत में सबसे जरूरी बात, जब भी चैटिंग करें या इंटरनेट पर कोई साइट खोलें, तो उसे ठीक ढंग से लॉगआउट कर दें, ताकि बाद में उस कंप्यूटर पर बैठने वाला यूजर आपके अकॉउंट को एक्सेस न कर पाए।
(सिलिकॉन कंप्यूवेयर सोल्यूशंस के सीईओ और आईटी सिक्योरिटी विशेषज्ञ सुभांशु प्रधान से बातचीत पर आधारित)
चैट के जरिये बहुत से ब्लेकमेलिंग चैट के जरिये बहुत से ब्लेकमेलिंग Reviewed by Sushil Gangwar on January 04, 2012 Rating: 5

No comments