Top Ad 728x90

  • Sakshatkar.com - Sakshatkar.org तक अगर Film TV or Media की कोई सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए mediapr75@gmail.com का सहारा ले सकते हैं.

Thursday, 5 January 2012

लाइव इंडिया को खरीदेगा एनएनआईएस!


जल्‍द फाइनल डील होने की संभावना : कम हो जाएगी परेशान कर्मचारियों की मुश्किलें : खबर है कि लाइव इंडिया के किस्‍मत का फैसला होना तय हो गया है. जल्‍द ही यह चैनल दूसरे मालिक के पास जाने वाला है. हालांकि इसकी बातचीत अभी प्रारंभिक दौर में है, पर जिस तरह से बुधवार को हेड सुधीर चौधरी ने अपने कर्मचारियों को दस से बारह दिन में सब कुछ सुधर जाने का आश्‍वासन दिया है, उससे लगता है कि जल्‍द ही सारी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. अंदरखाने से जो सूचना आ रही है उसके अनुसार लाइव इंडिया को न्‍यूज एजेंसी नेटवर्क वन (एनएनआईएस) इसे खरीदने जा रही है.
सूत्रों के अनुसार काफी समय से इस चैनल को बेचे जाने की तैयारियां चल रही थीं. चैनल की मदर कंपनी एचडीआईएल ने इसमें पैसा लगाना भी बंद कर दिया था, जिसके चलते तमाम देनदारियों के साथ कर्मच‍ारियों का भी बकाया हो गया है. पर जिस तरह से काफी दिन बाद आए सुधीर चौधरी के तेवर कर्मचारियों ने देखे उससे साफ लग रहा है कि चैनल के भीतर की स्थितियां जल्‍द ही सामान्‍य हो जाएंगी. खबर है कि एनएनआईएस से जुड़े लोग चैनल के अंदर-बाहर का मुआयना भी कर चुके हैं. और इसके लिए प्रारंभिक स्‍तर की बातचीत भी हो चुकी है. एनएनआईएस कई चैनलों के साथ वोडाफोन और स्‍पाइस जैसी मोबाइल कंपनियों को भी कंटेंट उपलब्‍ध कराती है. नेटवर्क वन के सीईओ अरुप घोष और सीओओ शिरिन हैं.
बताया जा रहा है कि इस डील में सुधीर चौधरी और लाइव इंडिया के एक पूर्व ईपी का महत्‍वपूर्ण रोल है, जो इन दिनों नेटवर्क वन से जुड़े हुए हैं. इन दोनों लोगों को चैनल के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के बारे में काफी कुछ पता था, जिससे डील में काफी मदद मिली. दोनों कंपनियों के मालिकानों में दिल्‍ली और मुंबई में कुछेक दौर की वार्ता हो चुकी है. अब मामला पैसे को फाइनल करने को लेकर है. सूत्रों का कहना है कि डील 55 से 65 करोड़ के बीच संभावित हो सकती है. हालांकि अभी इसको लेकर कुछ भी फाइनल नहीं हुआ है. इस डील में मार्तंड अधिकारी की भी भूमिका है, क्‍योंकि इस चैनल के कुछ शेयर उनके पास भी हैं. मार्कंड अधिकारी के खास रहे राकेश पुरोहित भी पूरी प्रक्रिया पर नजर बनाए हुए हैं.
कभी अधिकारी ब्रदर्स से इस चैनल को खरीदने वाले मुंबई के एचडीआईएल समूह कुछ आंतरिक विवादों के बाद इस चैनल से मुंह मोड़ चुका है. सूत्रों के मुताबिक एचडीआईएल प्रबंधन लाइव इंडिया चैनल के खुद के पास होने से कोई खास फायदा नहीं देख पा रहा है. दूसरे, एचडीआईएल प्रबंधन अपने जमीन के मूल धंधे में इन दिनों मुश्किलों का सामना कर रहा है. कंपनी के पास बाजार से कैश फ्लो न आने के कारण लाइव इंडिया को दी जाने वाली मासिक बजट पर गाज गिरा दी गई है. इस कारण चैनल अब त्रिशंकु स्थिति में आ चुका है. इससे एचडीआईएल को लाभ भी नहीं हो रहा है. चैनल की टीआरपी भी तेजी से नीचे गिरी है टॉप टेन में रहने वाला चैनल अब टॉप टेन से बाहर हो चुका है.
हालांकि इस चैनल को खरीदने और खरीदवाने में कई अन्‍य बड़े पत्रकारों ने अपनी नजर बना रखी थीं. सूत्रों का कहना है कि इस चैनल पर प्रभु चावला, प्रदीप राय, दीपक चौरसिया भी इस चैनल में दिलचस्‍पी दिखा रहे थे, परन्‍तु अंतत: सफलता सुधीर चौधरी को ही मिली. नोएडा में स्थित नेटवर्क वन के दफ्तर में इन दिनों काफी हलचल देखने को मिल रही है. मार्केटिंग टीम ने अपना काम शुरु कर दिया है और एचडीआईएल प्रबंधन ने मुंबई दफ्तर के हवाले से लाइव इंडिया के कर्मचारियों की लिस्ट नेटवर्क वन को थमा दी है. खबर है कि जल्‍द ही सभी कर्मचारियों का हिसाब किताब कर दिया जाएगा.
बताया जाता है कि नेटवर्क वन के प्रमोटर इस प्रोजेक्ट में एक मोटी रकम लगाने जा रहे हैं. डिस्‍ट्रीब्‍यूशन पर सबसे ज्यादा जोर दिये जाने की रणनीति बनाई जा रही है. खबर है कि इसके लिए टीवी-18 से एक बडे़ अधिकारी को तोड़ लिया गया है. अगर सबकुछ ठीक ठाक रहा तो लाइव इंडिया में फिर से रौनक दिखने लगेगी. संभावना है कि एक से दो सप्‍ताह के भीतर यह डील फाइनल हो सकती है. सूत्रों का कहना है कि अब सारा मामला लेनदारी और देनदारियों पर आकर टिक गया है, इसके फाइनल होते ही लाइव इंडिया नेटवर्क वन के हाथों में चला जाएगा
Sabhar:- Bhadas4media.com

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90